Home > विदेश > अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से कमला हैरिस ने नाम लिया वापस, बंद किया चुनावी अभियान

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से कमला हैरिस ने नाम लिया वापस, बंद किया चुनावी अभियान

-राष्ट्रपति ट्रम्प ने कसा तंज, 'आपको मिस करेंगे'

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से कमला हैरिस ने नाम लिया वापस, बंद किया चुनावी अभियान

वाशिंगटन। कैलिफॉर्निया की डेमोक्रेटिक सांसद कमला हैरिस ने वर्ष 2020 में अमेरिकी राष्‍ट्रपति पद के लिए होने जा रहे चुनाव से अपना नाम वापस ले लिया है। भारतीय मूल की कमला हैरिस ने बुधवार को इस बात की घोषणा की है कि वह अपना चुनाव प्रचार अभियान बंद कर रही हैं।

कमला हैरिस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है, 'मैं अपने समर्थकों को गहरे अफसोस और पूरी कृतज्ञता के साथ माफी मांगते हुए बताना चाहती हूं कि मैं आज अपना चुनावी अभियान खत्म कर रही हूं। इसका मुझे दुख है। लेकिन मैं आपसे साफ कर देना चाहती हूं कि लोगों को न्याय और सभी को न्याय जिसके लिए यह अभियान है, मैं उसके लिए प्रतिदिन लड़ूंगी।'

कमला हैरिस ने एक वीडियो संदेश भी ट्वीटर पर साझा किया है, जिसमें उन्होंने माना है कि उनके इस बड़े फैसले के पीछे मुख्य कारण धन की कमी थी। उन्होंने कहा, 'मुझे चुनाव लड़ने के लिए वित्तीय संसाधन की जरूरत थी। मैं अरबपति नहीं हूं। मेरे पास चुनाव में उतरने के लिए धन नहीं थे।'

कमला हैरिस के चुनाव से हटने के फैसले पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट किया, 'यह बुरा हुआ। हम आपको मिस करेंगे कमला।' इस पर जवाब देते हुए कमला हैरिस ने लिखा, 'कोई बात नहीं मिस्टर राष्ट्रपति। आप पर चल रहे महाभियोग की सुनवाई के दौरान मैं आपसे मिलूंगी।'

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ समय से कमला हैरिस की पोलिंग लोकप्रियता में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही थी। वहीं कैम्पेन की शुरुआत से ही हेल्थकेयर जैसे विषय पर उन्हें लगातार आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा था।

कमला हैरिस को लॉस एंजेल्स में 19 दिसम्बर की डिबेट में भाग लेने के योग्य पाया गया था, लेकिन उन्होंने इसकी इंतज़ार करना उचित नहीं समझा। रिपब्लिकन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की दूसरी पारी के खिलाफ डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित दो दर्जन उम्मीदवारों में बराक ओबामा के पश्चात कमला हैरिस ही एक मात्र अश्वेत महिला दावेदार थीं, जो मैदान में डटी रहतीं और चुनाव जीत जातीं, तो पहली अश्वेत महिला राष्ट्रपति होती। हैरिस की मां भारतीय और पिता जैमेका के थे। उन्होंने 21 जनवरी को मार्टिन लूथर किंग जूनियर के जन्म दिवस पर आकलैंड में बीस हजार समर्थकों की रैली में चुनाव में भाग लेने की घोषणा की थी। इसके तीन महीनों में उसने एक करोड़ बीस लाख डॉलर चंदा एकत्र भी कर लिया था। इसके बाद एक अवसर ऐसा भी आया कि वह पूर्व राष्ट्रपति जोई बिडेन के सम्मुख डिबेट में बाजी मार कर पहले चार स्थान में आई थीं, लेकिन उसके बाद वह पिछड़ती गईं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top