Home > विदेश > क्या 'गजनवी' मिसाइल से भारत को हो सकती है परेशानी ?

क्या 'गजनवी' मिसाइल से भारत को हो सकती है परेशानी ?

क्या

नई दिल्ली। कश्मीर पर तनाव के बीच बीते गुरुवार को पाकिस्तन ने कम दूरी की परमाणु सक्षम मिसाइल गजनवी का परीक्षण किया। मगर इससे भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियां को कोई चिंता नहीं है। भारतीय सुरक्षा अधिकारियों का मानना है कि पाकिस्तान के इस मिसाइल परीक्षण से हमें परेशान होने की जरूरत नहीं है। उनका मानना है कि यह मिसाइल परीक्षण कश्मीर मुद्दे पर इस्मामाबाद द्वारा भड़काने की लगातार कोशिश का महज हिस्सा है। हम इसके काउंटर के लिए जैसे को तैसा वाली नीति में शामिल नहीं होंगे। नाम न जाहिर होने देने की शर्त पर राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारियों ने यह कहा।

हालांकि, अधिकारियों और विदेश मामलों के अधिकारियों और वैज्ञानिकों ने कहा कि यह प्रक्षेपण अपनी मिसाइल क्षमता के लिए चीन पर पाकिस्तान की गहरी निर्भरता को रेखांकित करता है (ग़ज़नवी की डिलीवरी प्रणाली चीनी एम-11 मिसाइल का व्युत्पन्न है)। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भारत की अपनी मिसाइल क्षमताएं पाकिस्तान की तुलना में बहुत अधिक उन्नत हैं।

बता दें कि M-11 मिसाइलों को 1987 में U-235 परमाणु उपकरण के ब्लू-प्रिंट के साथ पाकिस्तान ने चीन से लिया था। इतना ही नहीं, उत्तर कोरिया ने भी पाकिस्तान के मिसाइल विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। जम्मू-कश्मीर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने और आर्टिकल 370 के ज्यादातर संवैधानिक प्रावधानों को भंग करने के लिए भारत के कदम का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने की पाकिस्तान शुरु से ही चाल चल रहा है।

भारतीय अधिकारियों ने कहा कि स्थानीय मिसाइल डेवलपर्स और सामरिक बल कमान भारत की क्षमताओं के प्रति आश्वस्त हैं और हमारा रावलपिंडी के साथ कुश्ती मैच में उतरने का कोई इरादा नहीं है। एक अधिकारी ने कहा, "पाकिस्तान द्वारा युद्ध जैसे इन तीखे बयानों के पीछे पूरा विचार भारतीय राजनीतिक प्रतिक्रिया को भड़काने का है साथ ही वह यह कोशिश में है कि किसी तरह पी-5 (संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य) का ध्यान अपनी ओर खींचा जाए ताकि वह नरेंद्र मोदी सरकार को कुछ निर्देश दे।"

पाकिस्तान जिस बैलिस्टिक मिसाइल गजनवी का परीक्षण किया है वह सतह से सतह पर मार करने वाली है। इस मिसाइल 290 किलोमीटर की दूरी तक का लक्ष्य भेदने में सक्षम है। पाकिस्तान का ये मध्यम दूरी का बैलेस्टिक मिसाइल है। इसे गजनवी या हत्फ-3 मिसाइल के नाम से जाना जाता है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top