Home > स्वास्थ्य > हेल्थ टिप्स > सकारात्मक जीवनशैली.....तनाव रहित जीवन

सकारात्मक जीवनशैली.....तनाव रहित जीवन

सकारात्मक जीवनशैली.....तनाव रहित जीवन

जीवन में सबसे मुश्किल काम है सरल, संतुलित बने रहना, लेकिन यह असंभव नहीं है। अगर कुछ बातों को आप अपनी रोजाना और जीवन का हिस्सा बनाकर अपनी आदत में शामिल कर लेंगे तो जीवन ना सिर्फ आसान लगेगी, बल्कि बेहतर भी बनेगी।

शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो जिसके साथ कोई समस्या नहीं हो... समस्या से घिरे रहने से सिर्फ तनाव ही होगा। इसलिए समस्या से ज्यादा समाधान पर ध्यान दें। अक्सर लोग समस्याओं के घेरे में घिरे रहते हैं जिसके चलते वह घर का महौल भी वैसा ही बना लेते है। इस सब का सीधा प्रभाव जीवन पर और घर के माहौल पर पड़ता है। आप तो परेशान होते ही है साथ आपसे जुड़े व्यक्ति भी परेशान होने लगते हैं इसलिए इस बात को स्वीकार करें कि जीवन है तो समस्याएं रहेंगी इससे कैसे निपटना इस ओर विचार करें।


घर का माहौल

जीवन में सबसे अहम भूमिका निभाता है घर का माहौल। घर के माहौल को हमेशा खुशनुमा बनाए रखने का प्रयास करें। आजकल परिवार एकल है, और इसका सीधा प्रभाव जीवन पर दिखाई देता है। घर का हर सदस्य अपने-अपने कामों में उलझा रहता है। एक -दूसरे के साथ समय बिताने का मौका शायद ही किसी को मिलता हो। जब भी इक_े हों एक-दूसरे से प्रेम से बात करें। उनके जीवन से जुड़ी बातें जानने का प्रयास करें। एक-दूसरे के मन को जानें। जरूरी नहीं कि हर समय गंभीर विषयों पर ही परिवार के सदस्यों से चर्चा की जाए सामान्य विषयों पर भी परिवार के साथ चर्चा की जा सकती है।

सक्रिय रहें

खाली दिमाग शैतान का घर ये बात आपने सुनी ही होगी। अत: अपने आप को किसी न किसी काम में उलझाए रखें। यदि आप खाली बैठते हो तो तरह-तरह के अच्छे-बुरे विचार मन में आते हैं, कई बार तो ऐसा भी होता कि पुरानी बातों को लेकर उसी के बारे में सोचने लगते हैं और यही सब बातें तनाव का कारण बनती है। इसलिए जितना हो सके

स्वयं को ऐसे कामों में लगा कर रखें जिसमें आपकी रूचि है। इससे मन और सेहत दोनों अच्छे रहते हैं।

सकारात्मक रहें

आज के समय में बड़ा हो या छोटा हर किसी को छोटी-छोटी बातों को दिल से लगाने की आदत सी बन गई। यहां तक कि छोटी उम्र के बच्चे तक माता पिता के डांटने पर गुस्सा हो जाते हैं खाना नहीं खाते हैं तो बड़ों के बारे में क्या कहा जा सकता है। लेकिन परिणाम दोनों के एक जैसे ही आते हैं। जीवन को बेहतर तरीके से जीने का एक ही उपाय है... वह है बेहतर नजरिया।

आप जीवन के प्रति जितने सकारात्मक होंगे जीवन उतना ही अच्छा और सकारात्मक नजर आने लगेगा। इसलिए जीवन के प्रति अपने नजरिए को बदले फिर देखिए कि जीवन खुशहाल नजर आने लगेगा।

कोई बात को मन से लगाकर न रखें। मन में एक ही बात बैठाकर उसी नजरिए को सही ना मानें। अपनी सोच हमेशा सकारात्मक और प्रगतिशील रखें। नकारात्मक सोचने वालों के साथ ज्यादा बातचीत ना करें।

जीवन के हर पल को पूरी तरह से जी लेने का जज्बा पैदा करें। हमेशा जिंदगी से शिकायत करते रहने से हालात बदलेंगे नहीं, बल्कि आपके दुख ही बढ़ेंगे। ऐसे में जिन्दगी में जो अच्छे पल आपके पास हैं, वो भी आप से छिन जाएंगे। बेहतर होगा, उन्हें एंजॉय करें।

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top