Home > राज्य > मध्यप्रदेश > गुना > झुलसे परिवार में से पिता-पुत्र ने तोड़ा दम, पाँच सदस्य अभी भी जिदंगी और मौत से कर रहे संघर्ष

झुलसे परिवार में से पिता-पुत्र ने तोड़ा दम, पाँच सदस्य अभी भी जिदंगी और मौत से कर रहे संघर्ष

झुलसे परिवार में से पिता-पुत्र ने तोड़ा दम, पाँच सदस्य अभी भी जिदंगी और मौत से कर रहे संघर्ष

सांई सिटी कॉलोनी में पसरा हुआ है मातम, घटना को लेकर हर कोई है स्तब्ध

गुना/निज प्रतिनिधिपारिवारिक कलह की आग में झुलसे परिवार में से पिता-पुत्र ने दम तोड़ दिया है, वहीं परिवार के पांच सदस्य अभी भी भोपाल के हमिदिया अस्पताल में जिदंगी और मौत से संघर्ष कर रहे है। जिनमें तीन मासूम बच्चे भी शामिल है। घटना के बाद से सांई सिटी कॉलोनी में मातम पसरा हुआ है। बुधवार को जब एक ही घर से दो अर्थियां उठी तो कॉलोनी आंसुओं में भींग गई। इस मामले में आरोपी छोटी बहु पर फिळहाल हत्या के प्रयास का मामला दर्ज है।

ऐसी लगा आग की सब कुछ हो गया खाक

पारिवारिक कलह में घर में ऐसी आग लगी की सब कुछ खाक कर गई। संाई सिटी कॉलोनी निवासी नारायण सिंह कुशवाह के परिवार में भी ऐसी ही आग लगी। यह आग संपत्ति को लेकर थी, जिसका बंटवारा नहीं हो पा रहा था। आए दिन इसको लेकर विवाद होता रहता था, किन्तु विवाद इतना बढ़ेगा, ऐसा किसी ने नहीं सोचा था। कॉलोनीवासी भी घटना को लेकर स्तब्ध है। गौरतलब है कि मंगलवार को नारायण सिंह सहित उनके परिवार के सात सदस्य घर में लगी आगे से झुलस गए थे। आग पेट्रोल डालकर लगाई गई थी, जिसका आरोप छोटी बहु पर सास और उसके जेठ ने लगाया है। इसी आधार पर पुलिस ने छोटी बहु रचना के खिलाफ धारा 307 का प्रकरण दर्ज किया था।

भोपाल में उपचार के लिए पिता-पुत्र ने तोड़ा दम

घटना में परिवार के सात सदस्य बुरी तरह झुलस गए थे। जिन्हे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से उच्च उपचार के लिए उन्हे भोपाल भेजा गया था। जहां उपचार के दौरान नारायण सिंह और उनके पुत्र सोनू ने बीती रात दम तोड़ दिया। नारायण सिंह की पत्नी सिंघार बाई, बहू आशा कुशवाह, पोता सरस कुशवाह, पोती खुशी और नैन्सी अभी भी भोपाल के हमिदिया अस्पताल में जिदंगी और मौत से संघर्ष कर रहीं है। पिता-पुत्र का शव बुधवार दोपहर उनके घर लाया गया। इस दौरान मौके पर अन्य परिजन एवं रिश्तेदार जुटने लग गए थे। चूंकि पिता-पुत्र के दम तोडऩे की सूचना पहले ही मिल गई थी, इसलिए अंत्येष्टि की तैयारी कर रखी थी। शवों के आते ही अंत्येष्टि के लिए ले जाया गया।

जिसका आग लगाने का आरोप, उसके पति ने तोड़ा दम, पुत्र गंभीर

परिवार में आग लगाने का जिस छोटी बहू रचना पर आरोप है, उसका पति सोनू इस हादसे में दम तोड़ चुका है, वहीं उसके पुत्र की हालत भी गंभीर बताई जाती है। घर में फिलहाल रचना और उसका जेठ दिनेश ही है, पांच सदस्य भोपाल में भर्ती है। दिनेश इस घटना में इसलिए बच गया कि वह इस दौरान काम पर गया हुआ था। वह पुराने बस स्टैण्ड स्थित एक होटल में काम करता है, वहीं उसे घटना की सूचना मिली। दिनेश का कहना है कि घर में विवाद पहले भी होते रहे है, किन्तु यह विवाद इतना गंभीर रुप ले जाएगा, इसकी आशंका उसे नहीं थी। दिनेश ने बहू रचना पर आग लगाने का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि वह लंबे समय से अपने मायके गई हुई थी, जहां से वापस लौटते ही उसने विवाद शुरु कर दिया था।

हादसा या साजिश ? पुलिस कर रही जांच

उक्त घटना हादसा है या सजिश रचकर इसे अंजाम दिया गया है? इसको लेकर फिलहाल अब तक स्पष्ट स्थिति सामने नहीं आ सकी है। हालांकि मामले में सास सिंघार बाई एवं जेठ दिनेश कुशवाह के बयान के आधार पर शहर कोतवाली पुलिस ने छोटी बहू रचना पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया है, किन्तु पुलिस का यह भी मानना है कि हो सकता है कि घटना हादसा और रचना का परिवार को जलाने का इरादा नहीं हो। दरअसल आग की चपेट में रचना के पति और बच्चा भी आया है। अगर आग उसने लगाई होती तो वह दोनों को बचाते हुए ऐसा करती। इसके साथ ही जिस जगह पर घटना हुई है, वहीं पास में गैस भी जल रही थी। एक आशंका यह भी है कि रचना ने पेट्रोल से भरी केन फेंकी होगी और जलती हुई गैस से उसने आग पकड़ ली होगी, जिसकी चपेट में परिवार को सदस्य आ गए होगी। हालांकि यह सभी आशंका ही है, इसमें पुलिस की विस्तृत जांच एवं अन्य झुलसे लोगों के बयानों के आधार पर ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

Naveen ( 1696 )

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Share it
Top