Home > खेल > फूटबाल > आईएसएल-5 : गोवा ने मुंबई को 5-1 से हराया

आईएसएल-5 : गोवा ने मुंबई को 5-1 से हराया

आईएसएल-5 : गोवा ने मुंबई को 5-1 से हराया

मुंबई। एफसी गोवा ने शनिवार देर रात एकतरफा मुकाबले में हीरो इंडियन सुपर लीग(आईएसएल) के पांचवें सीजन के दूसरे सेमीफाइनल के पहले चरण के मैच में मेजबान मुंबई सिटी एफसी को 5-1 से हरा दिया। मैच का पहला गोल मुंबई ने किया लेकिन गोवा ने दमदार वापसी करते हुए पहले हाफ में दो और दूसरे हाफ में तीन गोल करके इस सीजन में मुंबई पर अपनी पहली जीत हासिल की।

दोनों टीमें दूसरे सेमीफाइनल का दूसरा चरण गोवा के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में 12 मार्च को खेलेंगी। इस जीत ने गोवा के फाइनल में जाने की उम्मीदों को काफी मजबूत कर दिया है, क्योंकि अब अगर मुंबई को फाइनल में जाना है तो उसे गोवा को उसके घर में बड़े अंतर से हराना होगा।

इस सीजन में गोवा के खिलाफ खेले गए बीते दो मैचों में जीत हासिल करने वाली मुंबई मानसिक बढ़त के साथ उतरी थी। उसने मैच की शुरुआत से अपने खेल से यह साबित कर दिया था कि मुंबई के अर्नाल्ड इसोको ने सातवें और 12वें मिनट में दो प्रयास किए जहां गोवा के गोलकीपर ने उन्हें रोक लिया। इस बीच 18वें मिनट में मुंबई के राफेल बास्तोस को पीला कार्ड मिला। हालांकि यहां मुंबई को थोड़ी परेशानी हुई, लेकिन कुछ ही देर में बास्तोस ने अपनी टीम की चिंता को ठंडा कर दिया। नतीजतन 20वें मिनट में बास्तोस और इसोको की जुगलबंदी ने मुंबई को 1-0 से आगे कर दिया।

इसोको ने गेंद को अपने पास लेकर तेजी से दौड़ लगाई। फिर मौका देखते हुए बास्तोस को पास दिया। बास्तोस बॉक्स में पहुंचे और शानदार तरीके से गेंद को नेट में डालकर मुंबई को एक गोल की बढ़त दिला दी। इससे मेजबान टीम के प्रशंसक झूमने लगे थे। उनकी यह खुशी हालांकि ज्यादा देर टिक नहीं पाई, क्योंकि 25वें मिनट में जॉयनेर लॉरेंसो को पीला कार्ड मिला लेकिन इससे भी बुरा इसके बाद हुआ।

गोवा ने 31वें मिनट में बराबरी कर ली। गोवा के स्टार फेरान कोरोमिनास ने 20 यार्ड की दूरी से झन्नाटेदार शॉट लगाया जो सीधा मुंबई के गोलकीपर अमरिंदर सिंह के पास गया। अमरिंदर ने गेंद को अपने शरीर से रोका जिससे गेंद टकरा कर वापस जाने लगी तो जैकीचंद ने सामने से गेंद को नेट में डालकर स्कोर बराबर कर दिया। मुंबई की परेशानी यहां खत्म नहीं हुई। 39वें मिनट में माउतार्दा फॉल ने गोवा को बढ़त दिला दी। ब्रेंडन फर्नाडेज ने कॉर्नर किक ली जिसे ईदू बेदिया ने पोस्ट से दूर भेज दी। माउतार्दा के पास गेंद आई तो हैडर से गेंद को गोलपोस्ट में डाल गोवा को 2-1 की बढ़त दिला दी।

पहले हाफ के आखिरी मिनट में बास्तोस ने मुंबई के लिए दूसरा गोल कर दिया लेकिन लाइनमैन ने इसे ऑफ साइड करार देकर मेजबान टीम को निराश कर दिया। उसने पहले हाफ का अंत एक गोल पीछे रहते हुए किया। मेजबान टीम की कोशिश थी कि वह दूसरे हाफ में बराबरी करे। इस पर मेहमान टीम ने पूरी तरह से पानी फेर दिया। पहले हाफ में गोल करने से चूकने वाले कोरोमिनास 51वें मिनट में नहीं चूके और जैकीचंद की मदद से गोल दिया।

यहां मुंबई के खराब डिफेंस के कारण उसे गोल खाना पड़ा। खराब डिफेंस ने जैकीचंद को बॉक्स में आने का मौका दिया। जैकीचंद ने खाली खड़े कोरोमिनास को गेंद दी। इस धुरंधर ने बिना समय बर्बाद किए गेंद को नेट में डालकर गोवा की बढ़त को दोगुना कर दिया। इससे मुंबई की परेशानी बढ़ गई। माउतार्दा ने 58वें मिनट में बेहतरीन हैडर से इस मैच में अपना दूसरा और गोवा का चौथा गोल किया। यह उनके पहले गोल की तरह ही था। ब्रेंडन फर्नांडेज ने कॉर्नर लिया जिस पर माउतार्दा ने हैडर से गोल किया।

मुंबई की टीम परेशान थी। उसे समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या करे। इसोको को 63वें मिनट में पीला कार्ड मिलने से वे और दबाव में थी।

जहां मुंबई बदलाव कर गोल करने के लिए प्रयासरत थी वहीं गोवा रुकने का नाम नहीं ले रही थी। माउतोर्दा की मदद करने वाले फर्नांडेज इस बार गोलशीट में अपना नाम दर्ज करा लिया। उन्होंने यह गोल 82वें मिनट में किया। बॉक्स के बाएं कोने पर गेंद उनके पास आई जिसे उन्हेंने अमरिंदर को पछाड़कर नेट में डालकर गोवा को 5-1 से आगे कर दिया। इस गोल ने इस मैच में मुंबई के ताबूत में आखिरी कील ठोक दी थी।

Tags:    

Swadesh Digital ( 7125 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top