Home > एक्सक्लूसिव > जल्द ही आगरा आने वाले हैं 'अभिनंदन'..खबर में पढ़िए..क्यों?

जल्द ही आगरा आने वाले हैं 'अभिनंदन'..खबर में पढ़िए..क्यों?

-विंग कमांडर अभिनंदन की पाकिस्तान से सकुशल वापसी के लिए दयालबाग में हुई थी प्रार्थना -गुरू महाराज से मिले थे अभिनंदन के ससुर

जल्द ही आगरा आने वाले हैं अभिनंदन..खबर में पढ़िए..क्यों?

आगरा/स्वदेश एक्सक्लूसिव। पाकिस्तान की कैद से छूटकर भारत लौटे जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान जल्द धन्यवाद देने के लिए दयालबाग आ सकते हैं। विंग कमांडर के ससुराल वाले राधास्वामी मत के अनुयायी हैं। उन्होंने गुरूवार को मत के गुरू महाराज से अभिनंदन की सलामती के लिए प्रार्थना की थी। गुरू महाराज ने अभिनंदन के ससुर विनोद मारवाह से कहा था कि अभिनंदन सकुशल लौट आएंगे। जब वह लौट आएं तो उन्हें यहां भी लाइएगा।

अभिनंदन की ससुराल पंजाब के गुरूदासपुर जिले के धारीवाल गांव में हैं। घटना के समय अभिनंदन की पत्नी तनवी श्रीनगर में थीं। उन्होंने बेंगलूरू में रह रहे अपने पिता रि. कर्नल विनोद मारवाह को पूरी जानकारी दी। दामाद की सकुशल वापसी के लिए उन्होंने प्रार्थना शुरू कर दी। विनोद मारवाह राधास्वामी मत के अनुयायी हैं। उन्होंने दयालबाग में गुरू महाराज के सामने सत्संग करने के लिए संपर्क किया।

सूत्रों ने बताया कि गुरू महाराज की ओर से उन्हें प्रार्थना का समय गुरूवार के लिए मिला। इसके बाद विनोद मारवाह गुरूवार को आगरा आ गए। वे दयालबाग में अपने परिचित के यहां रूके। गुरूवार को दोपहर में सत्संग के बाद उन्होंने गुरू महाराज प्रो. पीएस सत्संगी के सामने विंग कमांडर अभिनंदन की सकुशल वापसी को लेकर प्रार्थना की। गुरू महाराज ने कहा कि परेशान न हों, अभिनंदन जल्द सकुशल वापस लौटेंगे। बस आप राधास्वामी जपते रहें। शांति होने में दो-तीन दिन का समय लगेगा। अभिनंदन की भारत वापसी के लिए की गई प्रार्थना के करीब एक घंटे बाद ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को विंग कमांडर को भारत को सौंपने की घोषणा कर दी। बेटी से यह जानकारी मिलने पर विनोद मारवाह की आंखों में खुशी के आंसू छलक उठे थे। अभिनंदन की दुश्मन देश से हुई वापसी से दयालबाग के सत्संगियों में भी खुशी की लहर छाई हुई है। शनिवार सुबह जब खेतों में सेवा के लिए सत्संगी पहुंचे तो उनके चेहरों पर एक उत्साह झलक रहा था। ये उत्साह अभिनंदन के सकुशल वतन वापसी का था। राधा स्वामी मत के अनुयायी अब अभिनंदन के दयालबाग आगमन के लिए उत्साहित हैं। हर कोई अब बस प्रतीक्षा में है कि कब उनके देश का वीर सपूत मालिक का आशीर्वाद लेने के लिए आएगा।

Tags:    

Swadesh Digital ( 7125 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top