Top
Home > एक्सक्लूसिव > स्वदेश से बातचीत में हेमामालिनी बोलीं - प्रधानमंत्री मोदी ने दिया है घर-घर पानी पहुंचाने का लक्ष्य

स्वदेश से बातचीत में हेमामालिनी बोलीं - प्रधानमंत्री मोदी ने दिया है घर-घर पानी पहुंचाने का लक्ष्य

स्वदेश से बातचीत में हेमामालिनी बोलीं - प्रधानमंत्री मोदी ने दिया है घर-घर पानी पहुंचाने का लक्ष्य

पेयजल आपूर्ति की दिशा में उल्लेखनीय प्रगति

नई दिल्ली। भाजपा की मथुरा से सांसद व फ़िल्म अभिनेत्री हेमामालिनी ने कहा कि परिवारों में एक स्वस्थ जीवन शैली जीने और दूषित पानी के कारण संभावित स्वास्थ्य जोखिमों को कम करने पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। यही कारण है कि भारत में पानी शुद्धता यंत्रों का बाजार एक उल्लेखनीय दर के साथ बढ़ रहा है। 'जीरो वॉटर वेस्टेज आरओ प्यूरीफायर' के उद्घाटन कार्यक्रम में शिरकत करने आईं फ़िल्म अभिनेत्री हेमामालिनी ने कहा कि मौजूदा परिवेश में पानी की शुद्धता को लेकर काफी प्रयास किए जाने के बावजूद समस्या विकराल है। पेयजल की आपूर्ति गुणात्मक रूप से बढ़ती जा रही है और संसाधन घट रहे हैं, ऐसे में पानी की शुद्धता बनाये रखना बड़ी चुनौती है। इस चुनौती को सरकारी और सामाजिक प्रयासों के जरिए ही पूरा किया जा सकता है। स्वदेश से बातचीत में हेमामालिनी ने कहा कि पेयजल आपूर्ति के लिए वे अपने संसदीय क्षेत्र में समेकित प्रयास करेंगीं।

लगातार बढ़ रही है, जल शोधक यंत्रों की मांग

हेमामालिनी का कहना है कि हमारे बचपन के दिनों की तुलना में आज अगर देखा जाए तो हालात काफी असमान्य हो गए हैं। पहले हम घरों में आने वाले नलों से सीधे पानी पीते थे और स्वस्थ रहते थे, लेकिन आज ऐसा नहीं है, अब बिना प्यूरी फ़ायर के काम नहीं चलता। वे कहती हैं उनके संसदीय क्षेत्र के लोग जब मिलते हैं तो पेयजलापूर्ति की बात करते हैं। मीठे पानी के स्रोत समाप्ति की ओर हैं और खारा पानी पीने के लिए पानी शुद्धता संयंत्रों की जरूरत है, जो लगातार बढ़ती जा रही है।

मील का पत्थर साबित होगी घर-घर पानी योजना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 2024 तक हर घर में पानी पहुंचाने की योजना को हेमामालिनी बेहद क्रांतिकारी योजना मानती हैं। इससे लोगों में जागरूकता तो बढ़ेगी ही साथ ही इसके माध्यम से बड़े समाजिक लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में उल्लेखनीय प्रगति भी हो सकेगी। हालांकि इस क्षेत्र में निरंतर व लगातार कार्य किए जाने की जरूरत है, पर प्रधानमंत्री जी की सोच व प्रयासों की दाद देनी होगी।

प्योरीफायर से वाटर वेस्टेज का दौर खत्म : महेश गुप्ता

केंट आरओ सिस्टम लिमिटेड के चेयरमैन महेश गुप्ता ने कहा कि पानी की भयावहता को देखते हुए कंपनी नई व अद्यतन तकनीकी के साथ बाजार में उतरते हुए 'जीरो वाटर वेस्टेज टेक्नोलॉजी' के साथ सामने आई है। घर के स्तर पर पीने के पानी की बर्बादी को बचाने के लिए यह निर्विवाद रूप से सबसे बड़े स्रोतों में से एक है। अन्य प्रमुख कारक पानी मे नियंत्रित खनिज हैं, इसलिए पानी की सबसे खराब गुणवत्ता के बावजूद तकनीक फ़िल्टर किए गए पानी में सभी आवश्यक खनिजों को सौ प्रतिशत शुद्ध और समृद्ध बनाए रखेगा।

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top