Top
Latest News
Home > मनोरंजन > मप्र के लिए नई राहें खोलेगा आइफा अवार्ड समारोह

मप्र के लिए नई राहें खोलेगा आइफा अवार्ड समारोह

विवेक पाठक

मप्र के लिए नई राहें खोलेगा आइफा अवार्ड समारोह

बहुत खूब। शानदार। बधाई हो। मध्यप्रदेश में आइफा अवार्ड हो रहा हो तो यहां के कलाकारों के कुछ यही प्रफुल्लित शब्द सुनाई दे रहे हैं। मध्यप्रदेश सरकार ने वाकई अच्छा आगाज किया है। इंटरनेशनल इंडियन फिल्म अकेडमी अवार्ड जैसा विराट फिल्मी उत्सव आगामी मार्च महीने में इंदौर में होने जा रहा है इसको लेकर मध्यप्रदेश के सिने कलाकारों में उत्सवी माहौल है।

प्रदेश सरकार भी काफी उत्साहित है। खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सिने अभिनेता सलमान खान और अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडीज के साथ भोपाल के मिंटो हॉल से इसकी जोरदार घोषणा की है। सरकार ने इस मौके को मध्यप्रदेश की पर्यटन, संस्कृति, जनजातीय संस्कृति से लेकर प्राकृतिक सौन्दर्य के ब्रांडिंग का विराट अवसर बताया है।

निसंदेह मध्यप्रदेश के मिनी बांबे इंदौर में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का आईफा फिल्म समारोह होना एक बहुत बड़ा अवसर है। इंटरनेशनल इंडियन फिल्म अवार्ड एकेडमी ने आइफा अवार्ड की शुरुआत सन 2000 में की थी। पहला आइफा अवार्ड लंदन में हुआ था जिसमें पूरे बॉलीवुड के सितारे जुटे थे। यह अवार्ड समारोह अब तक

2001 - सन सिटी, दक्षिण अफ्रीका

2002 - जैंटिंग हाईलैंड्स, मलेशिया

2003 - जोहान्सबर्ग, दक्षिण अफ्रीका

2004 - सिंगापुर

2005 - एम्सटर्डम, नीदरलैंड

2006 - दुबई, संयुक्त अरब अमीरात

2007 - शेफील्ड, यूनाइटेड किंगडम

2008 - बैंकॉक, थाईलैंड

2009 - मकाऊ, चीन

2010 - कोलंबो श्रीलंका

2011 - टोरंटो, कनाडा

2012 - सिंगापुर

2013 - मकाऊ, चीन,

2014 - फ्लोरिडा, अमेरिका,

2015 - कुआलालम्पुर मलेशिया

2016 - मैड्रिड, स्पेन

2017 - न्यू जर्सी, अमेरिका व

2018 में बैंकॉक में आयोजित हो चुका है। दुनिया भर के प्रख्यात शहरों के बाद केवल एक बार 2019 में

आइफा अवार्ड समारोह की मेजबानी भारत को मिली और मायानगरी मुम्बई में आइफा के मंच पर भारत के सितारे इक_ा हुए। इस तरह इंदौर में आइफा समारोह आयोजित होना भारत को दूसरी बार मिली मेजबानी है। निश्चित ही यह मध्यप्रदेश के लिए भी बड़ा अवसर है। जिस समारोह में मुंबई सिने दुनिया से 5 हजार सितारे शामिल होने वाले हों उसके विशाल स्वरुप का अंदाजा सहज लगाया जा सकता है। आइफा फिल्म समारोह इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि करीब दो दशक तक दुनिया के कई शहरों में पहुंचकर आइफा ने भारतीय फिल्मों का वहां के जनमानस के बीच बेहतर प्रचार किया है। दुनिया के शहरों में भारतीय फिल्में देखी जाती हैं यहां के गाने गुनगुनाए जाते हैं तो इस तरह के समारोहों की भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। इंदौर शहर में भी इस अंतर्राष्ट्रीय प्रभाव का असर आइफा के दौरान सहज की दिखने की उम्मीद है। इस समारोह को देखने देश दुनिया से हजारों लोगों के आने की उम्मीद है तो अपने लाइन बाई लाइन चार्टर प्लेन से मुंबई फिल्म जगत के सितारे भी निश्चित ही आने वाले हैं। समारोह मध्यप्रदेश में तीन दिन चलने वाला है। एक दिन भोपाल और दो दिन इंदौर में। इस दौरान होटल, ट्रैवल और टूर इंडस्ट्री को अच्छा खासा बूस्टअप मिलने वाला है। मुंबई से जब सितारे जुटेंगे तो इंदौर में देश दुनिया के टीवी और मनोरंजन चैनलों के रिपोर्टर और कैमरामैन भी आएंगे। ऐसे में टाइगर स्टेट कहलाने वाले अपने मध्यप्रदेश की धुंआधार ब्रांडिंग होना तय है। आइफा समारोह के आयोजन के दौरान इवेंट मैनेजमेंट से लेकर पर्यटन, संस्कृति, सिक्योरिटी से जुड़े हजारों लोग आयोजन का हिस्सा बनेंगे। कलाकारों के इस महाकुंभ के प्रति मध्यप्रदेश के टीवी, सिने कलाकारों से लेकर सिने दुनिया का सपना देखने वाले भी आशान्वित होंगे। बाहर के नामी सिने और टीवी जगत के कलाकार आएं तो उन्हें भी कुछ न कुछ मौका इन कलाकारों से मिलने जुलने से लेकर संवाद का अवसर मिले ये अपेक्षा करेंगे। मध्यप्रदेश सरकार जिस भी रुप में आयोजन से जुड़े उसे स्थानीय कलाकारों और स्थानीय आशाओं और अपेक्षाओं का पूरा ख्याल करना चाहिए और उनके लिए उचित अवसर का मंच तैयार रखना चाहिए। मुंबई सिने जगत इंदौर आए तो अपने मध्यप्रदेश के घरु कलाकार और युवा चेहरे कुछ नया अवसर पाएं तो इससे बड़ी क्या खुशी होगी। अभी आइफा की घोषणा हुई तो सरकार फिलहाल तो जल्दी से जल्दी बेहतर से बेहतर इंतजाम कर मध्यप्रदेश की ब्रांडिंग के इस बेहतर मौके का पूरा लाभ उठाए। हमारा प्रदेश, हमारे शहर, हमारी कला संस्कृति, पर्यटन का आइफा के जरिए देश दुनिया में प्रचार प्रसार हो इससे भला हम प्रदेशवासियों के लिए क्या होगा।

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top