Home > मनोरंजन > चुनावी चर्चा- पुरानी दुश्मनी और नया रास्ता

चुनावी चर्चा- पुरानी दुश्मनी और नया रास्ता

चुनावी चर्चा- पुरानी दुश्मनी और नया रास्ता

मुंबई। अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन सालों से समाजवादी पार्टी में हैं और शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा अब समाजवादी पार्टी में पंहुची हैं। पूनम सिन्हा लखनऊ से केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ ताल ठोक चुकी हैं। नामांकन पत्र दाखिल करने वाले दिन पूनम सिन्हा का रोड शो हुआ, जिसमें शत्रुघ्न सिन्हा पंहुचे। सपा के नेताओं की जमात दावा कर रही थी कि इस रोड शो में जया बच्चन भी हिस्सा लेंगी, क्योंकि लखनऊ की जनता में उनका क्रेज है। कहा तो ये भी जा रहा था कि जया बच्चन को लखनऊ सीट से लड़ाने की बात सपा में हुई थी, लेकिन दूसरी बार पार्टी की ओर से राज्यसभा पंहुची जया बच्चन ने लोकसभा चुनाव लड़ने के नाम हाथ जोड़ लिए। अब पूनम सिन्हा के लिए लखनऊ में हुए रोड शो में जया बच्चन के दूर रहने का सवाल किसी राकेट साइंस में नहीं उलझता। इस उलझन के तार अमिताभ और शत्रु की दुश्मनी से जुड़ते हैं, जो सालों साल बनी रही। ये तय माना जा सकता है कि समाजवादी पार्टी कहेगी, तो जया बच्चन लोकसभा की हर सीट पर पार्टी के प्रत्याशी का प्रचार करेंगी। गठबंधन के नाम पर वे बहुजन समाजवादी के उम्मीदवारों के लिए भी प्रचार करने से मना नहीं करेंगी, लेकिन अगर बात पूनम सिन्हा के प्रचार के लिए आएगी, तो जया बच्चन कभी इसके लिए राजी नहीं होंगी। भले ही इसके लिए उनको कोई भी कीमत चुकानी पड़ जाए। जया बच्चन की पूनम सिन्हा से निजी तौर पर कोई दुश्मनी नहीं है और पुणे इंस्टिट्यूट में शत्रुघ्न सिन्हा तो जया बच्चन के सहपाठी रहे हैं। फिर भी दोनों के बीच बात नहीं जमती। अमिताभ बच्चन सार्वजनिक रुप से शत्रुघ्न सिन्हा के साथ मंच शेयर जरुर कर लेते हैं, लेकिन बालीवुड में हर कोई इन दोनों सितारों के सालों पुराने कोल्डवार की हकीकत जानता है, इसलिए सालों पुराने एक विश्लेषक ने इस पूरे मामले पर कमेंट करते हुए कहा कि अगर खबर आती कि जया बच्चन ने पूनम सिन्हा के लिए कैंपेन की बात मान ली है, तो ये न्यूज बनती।

Tags:    

Swadesh Digital ( 8841 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top