Home > शिक्षा > व्यक्तित्व विकास > एसडीएम ननद से प्रेरणा ले कानपुर की जयजीत कौर ने टॉप किया पीसीएस

एसडीएम ननद से प्रेरणा ले कानपुर की जयजीत कौर ने टॉप किया पीसीएस

पति अभिषेक मिश्रा का भी पीसीएस में हुआ चयन

एसडीएम ननद से प्रेरणा ले कानपुर की जयजीत कौर ने टॉप किया पीसीएस

कानपुर। किसी भी सफल व्यक्ति की सफलता के पीछे कोई न कोई होता है, यह कथन एक बार फिर सच साबित हुआ और कानपुर की जयजीत कौर पीसीएस परीक्षा में टॉप कर गयी। उन्होंने बताया कि पति अभिषेक मिश्रा के साथ मुंबई में प्राइवेट नौकरी कर रही थी। इसी दौरान ननद पूजा मिश्रा एसडीएम बनी। जिसकी प्रेरणा लेकर हम दोनों ने पीसीएस की तैयारी शुरु की और आज पीसीएस में टॉप कर गयी।

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग प्रयागराज की सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा (सामान्य/विशेष) चयन परीक्षा 2016 का रिजल्ट घोषित कर दिया गया। जिसमें कानपुर की जयजीत कौर ने प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त किया है। जबकि पड़ोसी जनपद फतेहपुर के प्रखर उत्तम चौथे स्थान पर रहे। जिनकी शिक्षा कानपुर से हुई है।

जयजीत कौर ने शनिवार को खास बातचीत में बताया कि मुझे पहली बार में ही सफलता मिल गयी है। जिसकी प्रेरणा स्रोत मेरी एसडीएम ननद पूजा मिश्रा है। बताया कि बीटेक और एमबीए के साथ मुंबई में पति अभिषेक मिश्रा के साथ जॉब करने लगी। दोनों की जॉब बेहतर चल रही थी कि इसी दौरान ननद 2012 की पीसीएस परीक्षा में एसडीएम बन गयी और तभी हम दोनों ने इस परीक्षा की ओर ध्यान दिया, जिसमें ननद की भूमिका अहम रही और उन्ही की प्रेरणा से इस परीक्षा की तैयारियों की बारीकियां समझी। उन्ही के बताये रास्ते पर पढ़ाई शुरू की और हम दोनों को आज सफलता मिल सकी।

जब पूछा गया कि क्या आपको पीसीएस टॉप करने की उम्मीद थी तो कहा कि मुझे इसकी उम्मीद नहीं थी। हां यह जरुर था कि सफलता मिलेगी और मनपसंद एसडीएम पद मिल सकता है। जब पूछा गया कि आपके पति अभिषेक मिश्रा की रैंक आपसे कम आई है तो कैसा महसूस कर रही हैं। तो कहा कि प्रतियोगी परीक्षा में ऐसा होता रहता है। पीसीएस का पिछला मेन्स उन्होंने दिया है और उम्मीद है कि उन्हे भी अच्छी रैंक मिलेगी।

वीरेन्द्र स्वरूप से हुई शिक्षा

नजीराबाद के कौशलपुरी में रहने वाले व्यवसाई सरबजीत सिंह होरा ने बताया कि बेटी की इंटर तक की शिक्षा अवधपुरी स्थित वीरेन्द्र स्वरुप एजुकेशन सेंटर से हुई। इसके बाद जयजीत लखनऊ के आईईटी कालेज से बीटेक किया। इसी दौरान साथ पढ़ने वाले गोमती नगर निवासी अभिषेक मिश्रा से नजदीकियां हुई। इसके बाद दोनों मुंबई से एमबीए करने के बाद वहीं एक निजी कंपनी में अच्छी जॉब करने लगे और 2014 में शादी कर ली। शादी के बाद दोनों ने सिविल सर्विसेज की तैयारी का मन बनाया और 2015 से दिल्ली में रहकर इसकी तैयारी शुरू कर दी। होरा ने कहा कि बेटी और दामाद को एक साथ पीसीएस परीक्षा में सफल होता देख पूरा परिवार खुश है। उल्लेखनीय है कि जयजीत कौर को एसडीएम पद मिला है और उसके पति अभिषेक मिश्रा को असिस्टेंट कमिश्नर का पद मिला है।

कानपुर से हुई प्रखर की शिक्षा

पीसीएस में चौथा स्थान लाने वाले फतेहपुर के प्रखर उत्तम की इंटर तक शिक्षा कानपुर के किदवई नगर स्थित मदर टेरेसा से हुई। दिल्ली से बीटेक और एमबीए करने के बाद कानपुर के एपेक्स कोचिंग से प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी की। जिसके बाद कस्टम अधिकारी बने और इस समय मुंबई में तैनात हैं। मुंबई से ही पीसीएस परीक्षा की तैयारी कर किसान के बेटे ने प्रदेश में चौथा स्थान हासिल किया, जिन्हे एसडीएम पद मिला।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top