Home > अर्थव्यवस्था > अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने से पेट्रोल-डीजल में हुई वृद्धि

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने से पेट्रोल-डीजल में हुई वृद्धि

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने से पेट्रोल-डीजल में हुई वृद्धि

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल के दाम में शनिवार को लगातार तीसरे दिन वृद्धि का सिलसिला जारी रहा। तेल कंपनियों ने पेट्रोल का भाव दिल्ली और कोलकाता में 11 पैसे जबकि मुंबई 10 पैसे और चेन्नई में 12 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया है। वहीं, डीजल दिल्ली और कोलकाता में 10 पैसे जबकि मुंबई और चेन्नई में 11 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है।

देश की राजधानी दिल्ली में तीन दिनों में पेट्रोल 23 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है और डीजल का दाम भी इन तीन दिनों में 21 पैसे प्रति लीटर बढ़ गया है।

इंडियन ऑयल की बेवसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में शनिवार को पेट्रोल के दाम बढ़कर क्रमश: 70.28 रुपये, 72.54 रुपये, 75.97 रुपये और 73.01 रुपये प्रति लीटर हो गए। चारों महानगरों में डीजल के दाम भी बढ़कर क्रमश: 64.11 रुपये, 66.03 रुपये, 67.22 रुपये और 67.81 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं।

पिछले दिनों अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का दाम बढ़ने के कारण पेट्रोल और डीजल के भाव बढ़ रहे हैं क्योंकि भारत अपनी तेल की जरूरतों का तकरीबन 84 फीसदी हिस्सा आयात करता है। लिहाजा, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल महंगा होता है तो भारत में पेट्रोल और डीजल समेत तमाम पेट्रोलियम उत्पाद महंगे हो जाते हैं।

हालांकि, अन्य उत्पादों के दाम में यह वृद्धि कुछ समय के बाद होती है लेकिन पेट्रोल और डीजल के दाम में रोजाना आधार पर इसका पता चलता है क्योंकि देश में तेल की कीमतों का निर्धारण के लिए डायनामिक प्राइसिंग मेकेनिज्म लागू होने के बाद से रोजाना आधार पर पेट्रोल और डीजल के भाव बदलते हैं। डायनामिक फ्यूल प्राइसिंग 16 जून 2017 से लागू है। इससे पहले एडमिनिस्ट्रेटिव प्राइस मेकेनिज्म के तहत पेट्रोल और डीजल की कीमतों का निर्धारण होता था जिसमें महीने के हर पखवाड़े की शुरुआत में कीमतों का निर्धारण किया जाता था।

Tags:    

Swadesh Digital ( 10170 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top