Home > अर्थव्यवस्था > अगर आप दूसरा क्रेडिट कार्ड लेना चाह रहे हैं तो रखें इन बातों का ख्याल

अगर आप दूसरा क्रेडिट कार्ड लेना चाह रहे हैं तो रखें इन बातों का ख्याल

अगर आप दूसरा क्रेडिट कार्ड लेना चाह रहे हैं तो रखें इन बातों का ख्याल

नई दिल्ली। आजकल आपको दिन में किसी क्रेडिट कार्ड देने वाले बैंक की ओर से कॉल आ ही जाता है। अगर आपके पास उस बैंक का कार्ड पहले से है तो एजेंट आपको दूसरे फायदे वाले कार्ड की पेशकश कर देता है और आप इस लालच में हामी भर देते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि क्रेडिट कार्ड फैशन नहीं है और जरूरत पर ही दूसरा कार्ड लें। एक ही बैंक के दो कार्ड रखने की बजाय अलग फायदे वाला दूसरे बैंक का क्रेडिट कार्ड लेना ज्यादा बेहतर है।

आजकल बैंक कई तरह के क्रेडिट कार्ड देते हैं, जिनमें कैशबैक, रिवॉर्ड प्वाइंट, खरीदारी या यात्रा पर पांच-दस फीसदी छूट जैसे लाभ मिलते हैं। कुछ डाइनिंग कार्ड भी आते हैं, जिसमें विशेष श्रेणी के होटल-रेस्तरां पर ठहरने और खाने-पीने पर छूट मिलती है। ऐसे में हर कोई भ्रमित हो सकता है कि आखिर किस तरह का क्रेडिट कार्ड रखा जाए। जीरो फ्यूल सरचार्ज और फ्लाइट अपग्रेड या प्रिविलेज कार्ड भी बैंक ऑफर करते हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि आपका पहला क्रेडिट कार्ड कई वजहों से काम न करे या दूसरा कार्ड काम आता है। कई तरह के प्रीमियम या विदेशी क्रेडिट कार्ड स्वीकार नहीं किए जाते हैं तो दूसरा कार्ड अच्छा विकल्प हो सकता है। पहले कार्ड के बिल का समयबद्ध भुगतान से भी आगे और कार्ड लेने में मदद मिलती है। अगर आपके पहले कार्ड पर लिमिट पूरी हो चुकी है और आपात स्थिति में आपको बड़ी खरीदारी की जरूरत है तो दूसरा कार्ड काम आ सकता है। बिलिंग साइकल के हिसाब से कार्ड का इस्तेमाल करने से इलाज के खर्च या तुरंत फ्लाइट बुकिंग जैसे कामों में दूसरा कार्ड भुगतान के लिए ज्यादा दिन की और मोहलत दे सकता है और आप भारी ब्याज पर पर्सनल लोन जैसी स्थिति से बच जाते हैं। अगर आप दो या तीन क्रेडिट कार्ड रखते हैं और उनके बिल का समय पर भुगतान करते हैं तो इससे आपका क्रेडिट स्कोर सुधरता है। बैंक आपकी कर्ज चुकाने में ईमानदारी और प्रतिबद्धता को देखते हुए कम दरों पर होम लोन, ऑटो लोन या अन्य ऋण की पेशकश करते हैं।

महत्वपूर्ण बातें

-अगर आप एक ही बैंक से दूसरा क्रेडिट कार्ड ले रहे हैं तो इसमें पहले जैसी खामियां हो सकती हैं।

-अगर पहले कार्ड के बिल का भुगतान नहीं कर पा रहे हैं तो दूसरा कार्ड लेना समझदारी नहीं

-अलग-अलग पेमेंट साइकल और बिल डेट वाला क्रेडिट कार्ड चुनना फायदेमंद होगा

-तीन-चार से ज्यादा कार्ड न रखें, क्योंकि आउटस्टैंडिंग बैलेंस से कम होता है क्रेडिट स्कोर

-किसी भी बैंक का प्रीमियम कार्ड तभी चुनें जब उसका बेहतर इस्तेमाल कर सकते हों

-क्रेडिट कार्ड चुनने के साथ उसके हर साल के न्यूनतम शुल्क की जानकारी भी जरूरी

-अगर खरीदारी पर नियंत्रण नहीं रख पाते हैं तो भी ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखना ठीक नहीं

-फ्यूल कार्ड, ट्रेवल कार्ड या होटल बुकिंग पर फायदा देने वाले अलग-अलग कार्ड बेहतर

Tags:    

Swadesh Digital ( 9596 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top