Top
Home > देश > झारखंड में बोलीं प्रियंका गांधी - जल-जंगल-जमीन के संघर्ष में इंदिरा गांधी जी हमेशा आपके साथ रही है

झारखंड में बोलीं प्रियंका गांधी - जल-जंगल-जमीन के संघर्ष में इंदिरा गांधी जी हमेशा आपके साथ रही है

झारखंड में बोलीं प्रियंका गांधी - जल-जंगल-जमीन के संघर्ष में इंदिरा गांधी जी हमेशा आपके साथ रही है

नई दिल्ली। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी बुधवार को झारखंड के पाकुर में चुनावी रैली को संबोधित की। रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि ये यहां की जल, जमीन आदि के मालिक आप हैं। संघर्ष की यह सीख आपको महान योद्धा सिद्धू और कान्हू से मिली है। प्रियंका गांधी ने कहा कि आपके जल-जंगल-जमीन के संघर्ष में इंदिरा गांधी जी हमेशा आपके साथ रही। इन पर आपका अधिकार बरकरार रखने के लिए काम किया। लेकिन, भाजपा सरकार अमीरों-दोस्तों के लिए आपकी जमीन छीन रही है।

प्रियंका ने कहा कि ये चुनाव आपकी मिट्टी और मां का चुनाव है। आपकी आत्मा का चुनाव है। जब से बीजेपी की सरकार आपके प्रदेश में आई आपकी आत्मा पर हमला किया गया है। आपके आदिवासियों पर हमला किया गया है। आपकी आदिवासी संस्कृति पर ये वार करते हैं। जो कानून आपकी संस्कृति को बचाने के लिए बनाए गए उन कानून को तोड़ने के लिए बीजेपी ने पूरी कोशिश की। भारतीय जनता पार्टी की सरकार प्रचार में सुपर हीरो है लेकिन काम में सुपर जीरो है।

आदिवासियों के लिए संघर्ष करना कांग्रेस की आत्मा में है। आपकी संस्कृति को बचाए रखना कांग्रेस के कण-कण में है। जब से भाजपा सरकार सत्ता में आई है, तब से झारखंड की आत्मा और आदिवासियों पर हमला किया गया है। जंगल के हजारों रंग होते हैं, लेकिन भाजपा की विचारधारा इन रंगों के प्रति अंधी है। सच ये है कि भाजपा ने 12 लाख गरीब परिवारों का राशन कार्ड रद्द किया है। कांग्रेस सरकार में 35 किलो चावल मिलता था, आज भाजपा के राज में 5 किलो मिल रहा है।

अगर आप आगे नहीं बढ़ते तो वह कानून हटा कर रहते। इंदिरा गांधी जी हमेशा आपके साथ रहीं। उत्तर प्रदेश में सोनभद्र जिले में आपके आदिवासी भाई-बहन रहते हैं। वहां पर निर्मम हत्या की गई। बहुत लोगों को मारा गया। इसी जमीन को लेने के लिए। यूपी की सरकार ने एक शब्द नहीं कहा। वहां जाने से मुझे रोका गया। फिर भी जब तक मैं उन पीड़ित परिवारों से मिली नहीं, पीछे नहीं हटी।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top