Home > देश > #LoksabhaElection 2019 : छिटपुट हिंसा के बीच पहले चरण का मतदान खत्म - EC

#LoksabhaElection 2019 : छिटपुट हिंसा के बीच पहले चरण का मतदान खत्म - EC

-आंध्र में टीडीपी और वाईएसआरसीपी में हिंसक झड़प, दो की मौत -गढ़चिरौली में नक्सली हमले में 2 जवान घायल - ईवीएम में गड़बड़ी और मतदाता सूची में नाम न होने की शिकायतें - पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में 81 प्रतिशत मतदान - उप्र के कैराना में दबंगों को रोकने के लिए हवाई फायरिंग - बिहार के नवादा में मारपीट की घटनाओं में 16 लोग घायल - प. बंगाल में भाजपा-टीएमसी कार्यकर्ता भिड़े, 7 घायल - उप्र: बसपा ने पुलिस पर दलित वोटरों को मतदान से रोकने का लगाया आरोप

#LoksabhaElection 2019 : छिटपुट हिंसा के बीच पहले चरण का मतदान खत्म - EC

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में गुरुवार को 18 राज्यों और दो केंद्र-शासित प्रदेशों की 91 सीटों पर मतदान हुआ। इनमें नक्सल प्रभावित महाराष्ट्र की सात और छत्तीसगढ़ की बस्तर सीट पर भी आज ही वोट डाले गए। बस्तर में 56 फीसद औसत मतदान हुआ। लोकसभा के साथ ही आंध्र प्रदेश, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश की सभी विधानसभा सीटों और ओडिशा की 28 विधानसभा सीटों के लिए भी एक साथ वोट डाले गए। कहीं धीमा तो कहीं तेज मतदान हुआ।

चुनाव आयोग से मिले आंकड़ों के अनुसार पश्चिम बंगाल में 81 प्रतिशत, अंडमान में 70.67, महाराष्ट्र में 55.78, उत्तराखंड में 57.85, उत्तर प्रदेश में 63.69, असम में 68, मणिपुर में 78.2, मिजोरम में 60, मेघालय में 62, सिक्किम में 69, त्रिपुरा में 81.8, ओडिशा में 66, आंध्र प्रदेश में 66, तेलंगाना में 60.57, बिहार में 50, जम्मू कश्मीर में 54.49, प्रतिशत मतदान हुआ है।चुनाव आयोग के मुताबिक यह आंकड़े शाम 5 बजे तक की वोटिंग के हैं और अंतिम वोट प्रतिशत में इजाफा हो सकता है।

पहले चरण के मतदान के दौरान आज कई राज्यों में ईवीएम में खराबी के अलावा कुछ जगहों पर छिटपुट हिंसा की घटनाएं हुईं। आंध्र प्रदेश में चुनावी हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई और महाराष्ट्र के गढ़ चिरौली में नक्सलियों ने एक मतदान के पास आईईडी विस्फोट कर दहशत फैलाने का प्रयास किया और शाम को चुनाव ड्यूटी से लौट रहे सुरक्षाबलों के जवानों पर हमला किया, जिसमें दो जवान घायल हो गए। नक्सल प्रभावित बस्तर में माओवादियों ने पोलिंग पार्टी को निशाना बनाया। नक्सलियों ने आईईडी धमाका किया। हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। उत्तर प्रदेश के कैराना में एक मतदान केंद्र में जबरन घुसने का प्रयास कर रहे लोगों को रोकने के लिए सुरक्षा बलों के जवानों को हवाई फायरिंग करनी पड़ी।

पश्चिमी उप्र में तीन केंद्रीय मंत्रियों की साख दांव पर

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आठ निर्वाचन क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा में मतदान सम्पन्न हुआ। यहां तीन केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह, डा. महेश शर्मा और सत्यपाल सिंह के अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान कसौटी पर हैं। मायावती की बहुजन समाज पार्टी, अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी और अजित सिंह के राष्ट्रीय लोकदल का गठबंधन की भी परीक्षा है।

कैराना में हवाई फायरिंग

कैराना में बीएसएफ के जवानों को आज दोपहर यहां एक मतदान केंद्र पर उस समय हवाई फायरिंग करनी पड़ी जब कुछ लोग बिना पहचान पत्र के जबरन वोट डालने के लिए परिसर में घुसने की कोशिश कर रहे थे। जिला निर्वाचन अधिकारी अखिलेश सिंह के अनुसार कांधला रसूलपुर गांव के पोलिंग बूथ पर फर्जी वोट डालने के लिए कई मतदाता लाइन में घुसे। जवानों ने उन युवकों को रोका और पहचान पत्र दिखाने के लिए कहा। इस बात पर जवानों की उन लड़कों से हाथापाई हो गयी। विवाद बढ़ने पर जवानों ने हवाई फायरिंग की। ग्रामीणों को शांत कराने के बाद पुनः मतदान चालू करवाया गया। मतदान करीब एक घंटा प्रभावित रहा।

पुलिस पर दलित वर्ग के वोटरों को रोकने का बसपा का आरोप

बहुजन समाज पार्टी ने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश में आज पुलिस और प्रशासन ने दलित समुदाय के मतदाताओं को वोट डालने से रोक दिया। पार्टी महासचिव सतीश मिश्रा ने बताया कि इस बारे में चुनाव आयोग से शिकायत दर्ज कराते हुए तत्काल कार्रवाई का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि हमने चुनाव आयोग के साथ एक और शिकायत दर्ज कराई है और उन्हें ईवीएम की एक वीडियो क्लिप भेजी है, जिसमें यह देखा गया है कि 'हाथी' का बटन दबाया जा रहा है, लेकिन वोट भाजपा के 'कमल' के बटन पर जा रहा है। हमारे लोगों ने इसके खिलाफ शिकायत की थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

इस बीच मुजफ्फरनगर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार संजीव बालियान के फर्जी मतदान के आरोपों का लखनऊ में मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय ने खंडन किया है। उनका कहना है कि बगैर पहचान पत्र के किसी को भी मतदान करने की अनुमति नहीं है। बालियान ने सुबह मुजफ्फरनगर शहर कोतवाली क्षेत्र के एक मतदान केंद्र पर फर्जी मतदान का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि बुर्का पहनकर आ रही महिलाओं के चेहरों की जांच नहीं हो रही है। मेरठ में बुधवार देर रात बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार याकूब कुरैशी और पूर्व सांसद शाहिद अखलाक के समर्थक भिड़ गए। दोनों पक्ष के लोगों ने मारपीट करने के साथ फायरिंग भी की।

गढ़चिरौली में नक्सली हमले में दो जवान घायल

गढ़चिरौली के धनोरा के तुमरीकासा गांव में नक्सलियों ने आज शाम चार बजे उस समय गोलीबारी की जब केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 113 बटालियन के जवान बूथ संख्या 283 से लौट रहे थे। इस हमले में दो जवान घायल हो गए। सीआरपीएफ की टुकड़ी ने भी जवाबी कार्रवाई की है।

इससे पहले आज महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में एक मतदान केंद्र के पास नक्सलियों ने दहशत फैलाने के इरादे से एक आईईडी विस्फोट किया। पुलिस का कहना है कि नक्सलियों ने यह विस्फोट वाघेजारी इलाके में पूर्वाह्न साढ़े 10 बजे किया। इस स्थान से मतदान केंद्र की दूरी लगभग 150 मीटर है। धमाके के वक्त लोग कतार में खड़े थे। विस्फोट होते ही भगदड़ मच गई। उधर, गढ़चिरौली के शंकरपुर गांव के पास एक ट्रैक्टर के पलट जाने से तीन लोगों की मौत हो गई और नौ अन्य घायल हो गए। ये सभी वोट डालने के बाद अपने गांव लौट रहे थे।

आंध्र प्रदेश में हिंसक संघर्ष में दो मरे

आंध्र प्रदेश के अनंतपुर के ताड़ी पत्री क्षेत्र में चुनाव हिंसा में दो लोगों के मारे जाने की सूचना है। यहां लोकसभा और विधानसभा के लिए मतदान हुआ। अधिकारियों ने बताया कि वीरापुरम गांव में तेदेपा और वाईएसआर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच खूनी झड़प में तेदेपा कार्यकर्ता सिद्धा भास्कर रेड्डी और वाईएसआर कांग्रेस के गोपी श्रीनिवास रेड्डी की जान चली गई। तीन लोगों की हालत गंभीर है।

आंध्र प्रदेश में 800 से अधिक ईवीएम खराब

आंध्र प्रदेश में 800 से अधिक ईवीएम खराब होने की आधिकारिक पुष्टि हुई है। इस दौरान बैलेट बॉक्स पर अपना नाम और तस्वीर ठीक से नहीं छापे जाने से नाराज जनसेना के उम्मीदवार मधुसूदन गुप्ता ने हंगामा करते हुए ईवीएम पटककर तोड़ दिया। पुलिस ने गुप्ता को हिरासत में ले लिया गया है। मंगलगिरी विधानसभा सीट से वाईएसआरसीपी उम्मीदवार आल्ला रामकृष्णा रेड्डी ईवीएम खराबी की वजह से धरने पर बैठ गए। अमरावती के ताड़े पल्ली क्रिश्चियन पेट नगर पालिका के स्कूल में आंध्र प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी गोपाल कृष्णा द्विवेदी अपना मत डालने पहुंचे। ईवीएम खराब होने की वजह से उन्हें काफी देर तक मतदान के लिए इंतजार करना पड़ा।

चंद्रबाबू नायडू ने की पुनर्मतदान की मांग

आंध्र प्रदेश में बड़े पैमाने पर ईवीएम में आई खराबी की वजह से कुछ बूथों पर पुनर्मतदान की मांग की गई है। मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने राज्य में मतदान को रद्द कर पुनर्मतदान कराने की मांग की है।

ईटानगर में फंसे केंद्रीय मंत्री किरण रिजीजू

पूर्वोत्तर के आठ राज्यों में 25 में से कुल 14 संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में लोकसभा के पहले चरण का मतदान चल रहा है। इस बीच अरुणाचल पश्चिम लोकसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजीजू हेलीकाप्टर की व्यवस्था न हो पाने की वजह से ईटानगर नहीं पहुंच पाए। रिजीजू को मतदान करने के लिए पश्चिम कामेंग जिला के नाफ्रा जाना था। हेलीकॉप्टर न उपलब्ध होने की वजह से वह ईटानगर में फंस गए।

डिब्रूगढ़ में शक्तिशाली बम बरामद

असम के कई मतदान केंद्रों में ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाया गया है। डिब्रूगढ़ जिले के दुलियाजान स्थित लांखासी के मठला चाय बागान के पास शक्तिशाली बम बरामद हुआ है। उग्रवादियों की योजना पाइप लाइन को उड़ाने की थी।

गया में मतदान केंद्र के पास मिला बम, किया डिफ्यूज

बिहार के गया में सुरक्षाबलों ने प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा (माओवादी) के चुनाव के दौरान विस्फोट करने का मंसूबा विफल कर दिया। डुमरिया थाना क्षेत्र के अनरबन सलैया गांव के मतदान केंद्र संख्या नौ के पास मिले बम को सुबह कोबरा के बम निरोधक दस्ते ने डिफ्यूज किया। नक्सलियों ने इमामगंज- रानीगंज सड़क मार्ग पर नेवता पुल के नीचे दो बम प्लांट किए थे। इन्हें भी निष्क्रिय कर दिया गया है।

नवादा में हिंसक झड़पों में 16 घायल

बिहार के नवादा लोकसभा क्षेत्र में मतदान के दौरान सात जगहों पर मारपीट की घटनाएं हुई, जिसमें 16 लोग घायल हुए हैं। यहां नवादा थाना अंतर्गत सिसवा गांव में मतदान के दौरान ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव किया। पथराव से बचने के लिए पुलिस को गोलियां चलानी पड़ीं।

ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने राजद के पक्ष में वोट देने को कहा। ऐसा नहीं करने पर गलत तरीके से मतदान बाधित किया, जिसके बाद उग्र ग्रामीणों ने पथराव कर दिया। कौवाकोल के केवली गांव में मतदान केंद्र पर ईवीएम तोड़े जाने की ख़बर है, जिससे यहां एक घंटे तक मतदान बाधित होने के बाद फिर से मतदान शुरू कराया गया।

बस्तर में विस्फोट कर दहशत फैलाने की कोशिश

बस्तर में हुए आईईडी विस्फोट पर नारायणपुर के पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग ने कहा है कि माओवादियों का मंसूबा विफल हो गया। तड़के चार बजे नारायणपुर के दण्डवन गांव में मतदान केंद्र पर विस्फोट कर दहशत फैलाने की कोशिश की गई।

ओडिशा के कई केंद्रों पर ईवीएम में खराबी

ओडिशा में चार लोकसभा और 28 विधानसभा सीटों पर मतदान हुआ। कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम में खराबी आने से मतदान देरी से शुरू हुआ। रायगडा जिले में काशीपुर प्रखंड के गोडिबाली यूपी स्कूल के मतदान केंद्र में ईवीएम में तकनीकी समस्या के कारण मतदाताओं को आधा घंटा तक इंतजार करना पड़ा। जयपुर शहर के पाराबेडा स्कूल के मतदान केन्द्र में ईवीएम में तकनीकी समस्या के कारण मतदान 45 मिनट देरी से शुरू हुआ। कोरापुट के लमतापुट प्रखंड के तीन मतदान केंद्रों में भी देरी से मतदान शुरू हुआ।

सिक्किम में छिटपुट हिंसा

सिक्किम में विधानसभा और लोकसभा चुनाव के लिए मतदान सम्पन्न हो गया। यहां सुबह से ही लोग कतारों में खड़े नजर आए। 32 विधानसभा क्षेत्रों में 150 और एक मात्र लोकसभा सीट के लिए 11 उम्मीदवार मैदान में हैं। बुधवार देर रात राज्य के विभिन्न हिस्सों में छिटपुट हिंसा की घटनाएं हुईं। इस दौरान सत्ताधारी एसडीएफ और प्रमुख विपक्षी एसकेएम पार्टी के कार्यकर्ता जख्मी हुए हैं। कई वाहनों में तोड़फोड़ भी की गई है।

उत्तराखंड के जोशीमठ में मतदान का बहिष्कार

उत्तराखंड के जोशीमठ में पूर्वाह्न पौने ग्यारह बजे तक मतदान शुरू नहीं हो पाया। चुनाव का बहिष्कार करते हुए यहां के मतदाताओं का कहना था कि सड़क कटिंग मशीन के आने के बाद ही मतदान किया जाएगा। राज्य की सभी पांचों लोकसभा सीटों के लिए मतदान हुआ।

पश्चिम बंगाल में हिंसक घटनाओं में 7 घायल

पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार और कूचबिहार लोकसभा क्षेत्रों में गुरुवार को मतदान शुरू होने के साथ ही व्यापक हिंसा शुरू हो गई। इलाके में जमकर बमबाजी और भाजपा तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक संघर्ष की घटनाएं हुईं। इन घटनाओं में भारतीय जनता पार्टी के एक कार्यकर्ता का सिर फट गया और दूसरे की हालत गंभीर है। तृणमूल कांग्रेस के एक नेता की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। कुल मिलाकर सात लोग घायल हुए हैं। चुनाव आयोग ने दोनों ही मामलों में रिपोर्ट तलब की है।

इस चरण में आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, उत्तराखंड, अरुणाचल, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, अंडमान निकोबार, लक्ष्यद्वीप और त्रिपुरा की सभी लोकसभा सीटों पर मतदान संपन्न हुआ। इसके साथ ही असम की 5, बिहार की 4, छत्तीसगढ़ की 1, पश्चिम बंगाल की 2, महाराष्ट्र की 7, जम्मू कश्मीर की 2, उत्तर प्रदेश की 8, ओड़िशा की 4 लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ।

चुनाव आयोग ने 20 राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कुल 1 लाख 70 हजार से अधिक मतदान केंद्र बनाए थे। इस चरण में कुल 14,21,69,537 मतदाता हैं, जिसमें 7,22,17,733 पुरुष और 6,98,55,931 महिला मतदाता हैं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 10031 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top