Home > देश > चंद्रयान-2 पर पीएम मोदी बोले - फोटो भेजिए मैं करूंगा रिट्वीट

चंद्रयान-2 पर पीएम मोदी बोले - फोटो भेजिए मैं करूंगा रिट्वीट

चंद्रयान-2 पर पीएम मोदी बोले - फोटो भेजिए मैं करूंगा रिट्वीट

दिल्ली/वेब डेस्क। चंद्रयान-2 की चंद्रमा सफल लैंडिंग के साथ ही भारत अंतरिक्ष में कामयाबी का एक और पताका लहरा देगा। 'चंद्रयान-2 का लैंडर 'विक्रम' आज देर रात और शनिवार तड़के चांद की सतह पर ऐतिहासिक 'सॉफ्ट लैंडिंग' के लिए तैयार है। इस ऐतिहासिक लैंडिंग पर सिर्फ भारत ही नहीं, पूरी दुनिया की नजर है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम के चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने के ऐतिहासिक क्षण को देखने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के बेंगलुरू स्थित मुख्यालय जायेंगे।

चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम के चंद्रमा पर सफल लैंडिंग से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि इस क्षण का 130 करोड़ भारतीय बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। अब से कुछ घंटों में चंद्रयान 2 के कदम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर होंगे। भारत और बाकी दुनिया हमारे स्पेस साइंटिस्ट के अनुकरणीय प्रगति की गवाह बनेंगे।

उन्होंने कई सारे चंद्रयान-2 को लेकर ट्वीट किये हैं। पीएम मोदी ने कहा कि मैं भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के इतिहास में असाधारण क्षण का गवाह बनने के लिए बेंगलुरु के इसरो केंद्र में रहकर देखने को बेहद उत्साहित हूं। उन विशेष पलों को देखने के लिए विभिन्न राज्यों के युवा भी मौजूद रहेंगे! भूटान के युवा भी होंगे।

उन्होंने कहा कि जिन नौजवानों के साथ मैं बेंगलुरु में इसरो सेंटर के विशेष क्षणों को देखूंगा, वे उज्ज्वल दिमाग वाले हैं जिन्होंने 5 जीओवी पर इसरो स्पेस क्विज जीता। इस क्विज में बड़े पैमाने पर भागीदारी विज्ञान और अंतरिक्ष में युवाओं की रुचि को प्रदर्शित करती है। यह एक महान संकेत है!

पीएम मोदी ने कहा कि मैं 22 जुलाई 2019 को जब चन्द्रयान - 2 लॉन्च किया गया था, तब से ही सभी अपडेट पर मेरी नजर है। यह मिशन भारतीय प्रतिभा और तप की भावना को प्रदर्शित करता है। इसकी सफलता से करोड़ों भारतीयों को लाभ होगा। पीएम मोदी ने कहा कि मैं आप सभी से चंद्रयान-2 के विशेष क्षणों को देखने का आग्रह करता हूं। साथ ही उन्होनें कहा कि आप अपनी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करें। मैं उनमें से कुछ को रिट्वीट भी करूंगा।

बता दें कि चंद्रयान 2 का लैंडर विक्रम शुक्रवार तड़के डेढ बजे के बाद चंद्रमा पर उतरेगा। प्रधानमंत्री इसरो के मुख्यालय में वैज्ञानिकों के साथ इस ऐतिहासिक क्षण का गवाह बनेंगे। उनके साथ देश भर के स्कूलों के करीब 70 छात्र भी होंगे। आठवीं से लेकर 10 वीं तक के इन छात्रों का चयन एक क्विज के जरिये किया गया है।

विज्ञान और वैज्ञानिकों की उपलब्धियों की सराहना करने वाले प्रधानमंत्री की इस मौके पर मौजूदगी से वैज्ञानिकों का मनोबल बढेगा और युवाओं को नवाचार की दिशा में काम करने की प्रेरणा मिलेगी। चंद्रयान 2 में व्यक्तिगत रूचि दिखाते हुए श्री मोदी ने कहा है कि यह मिशन पूरी तरह स्वदेशी है और इससे हर भारतीय को खुशी तथा गौरव की अनुभूति होगी। इसरो ने एक वक्तव्य जारी कर कहा है कि चंद्रयान 2 का लैंडर विक्रम शुक्रवार की देर रात और शनिवार तड़के एक से दो बजे के बीच चंद्रमा पर उतरना शुरू करेगा और उसके तड़के डेढ और ढाई बजे के बीच चंद्रमा को छूने की संभावना है।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top