Home > देश > आतंकियों का पनाहगाह पाकिस्तान मानवाधिकार के नाम पर रच रहा स्वांग : विदेश मंत्रालय

आतंकियों का पनाहगाह पाकिस्तान मानवाधिकार के नाम पर रच रहा स्वांग : विदेश मंत्रालय

आतंकियों का पनाहगाह पाकिस्तान मानवाधिकार के नाम पर रच रहा स्वांग : विदेश मंत्रालय

दिल्ली। भारत ने गुरुवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) में कश्मीर मुद्दे के ध्रुवीकरण और राजनीतिकरण का पाकिस्तान का प्रयास खारिज हो गया है। आतंकियों का पनाहगाह पाकिस्तान मानवाधिकार के नाम पर स्वांग कर रहा है, लेकिन दुनिया उसकी हकीकत समझ चुकी है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, 'पाकिस्तान' को यह समझ लेना चाहिए कि चार-पांच बार झूठ दोहराने से कोई बात सच नहीं हो जाती। विश्व समुदाय आतंकवादी ढांचे को समर्थन देने, उसका पोषण करने और बढ़ावा देने में पाकिस्तान की भूमिका से अवगत है। यही कारण है कि यूएनएचआरसी में कश्मीर मुद्दे के ध्रुवीकरण और राजनीतिकरण का पाकिस्तान का प्रयास खारिज हो गया है।'

कश्मीर मुद्दे पर यूएनएचआरसी में 58 देशों से समर्थन मिलने के इस्लामाबाद के दावे पर कुमार ने कहा कि पाकिस्तान से उन देशों का नाम पूछना चाहिए। यूएनएचआरसी में भारत और पाकिस्तान समेत 47 देश हैं। ऐसे में समर्थन देने वाले देशों के बारे में पाकिस्तान से पूछना चाहिए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब दो दिन पहले ही यूएनएचआरसी में कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच वाकयुद्ध देखने को मिला था। भारत ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के फैसले को अपना संप्रभु अधिकार बताया था। वहीं, पाकिस्तान ने क्षेत्र में मानवाधिकार उल्लंघन की जांच कराने की मांग की थी।

कुमार ने कहा, 'पाकिस्तान जो आतंकवादियों को पनाह देता है और आतंकवाद का केंद्र है, वैश्विक समुदाय की ओर से मानवाधिकारों पर बोलने का स्वांग कर रहा है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की स्थिति किसी से छिपी नहीं है। संदेशवाहक की विश्वसनीयता काफी संदिग्ध है। यह अंतरराष्ट्रीय समुदाय को पता है।'

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top