Latest News
Home > देश > गुरु नानक देव की शिक्षाएं मानवता के लिए प्रेरणा हैं : कोविंद

गुरु नानक देव की शिक्षाएं मानवता के लिए प्रेरणा हैं : कोविंद

-गुरु पर्व के अवसर पर राष्ट्रपति ने सुलतानपुर लोधी में टेका माथा

गुरु नानक देव की शिक्षाएं मानवता के लिए प्रेरणा हैं : कोविंद

चंडीगढ़। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि गुरु नानक देव का जीवन और शिक्षाएं संपूर्ण मानवता के लिए प्रेरणा हैं। वर्तमान युग में गुरु नानक देव की शिक्षाएं बेहद प्रासंगिक हैं। राष्ट्रपति मंगलवार को गुरु नानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर सुलतानपुर लोधी में पंजाब सरकार के आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि संगत को संबोधित कर रहे थे।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि 15वीं सदी में जब चारों तरफ सामाजिक कुरीतियां, नफरत का बोलबाला था तब इस धरती पर गुरु नानक देव ने अवतार लिया। गुरु नानक देव ने ऐसे समाज की रचना की जिसमें सभी को एक समानता का दर्जा प्रदान किया गया। उन्होंने कहा कि आज चारों तरफ नैतिकता का पतन हो रहा है। ऐसे में गुरु नानक देव की शिक्षाएं ही मानवता को बचा सकती हैं। पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अलावा पंजाब के सभी मंत्री और विधायक मौजूद थे।

इससे पहले राष्ट्रपति के यहां पहुंचने पर उनका स्वागत करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनके जीवन में यह दूसरा मौका है जब गुरु नानक देव के प्रकाशोत्सव को इतने बड़े स्तर पर आयोजित किया जा रहा है। इससे पहले गुरु नानक देव के 500वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर उनके पिता ने गुरु नानक देव फांउडेशन के अध्यक्ष होने के नाते व्यापक स्तर पर आंखों के कैंप लगाकर लाखों लोगों की मदद की थी। गुरुनानक देव ने लोगों को जाति-पाति से ऊपर उठकर चलने का संदेश दिया।

उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव ने पवन,पानी और धरती को बचाने का संदेश दिया था लेकिन आज पंजाब में यह तीनों खतरे में हैं। गुरु नानक देव के प्रति सच्ची श्रद्धा तभी होगी जब हम इनकी रक्षा करेंगे। कैप्टन ने करतारपुर साहिब कॉरिडोर खोलने पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने यह अच्छी शुरूआत की है। भविष्य में और भी रास्ते खुलने चाहिए ताकि दोनों देशों के संबंध मजबूत हो सकें।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top