Home > देश > नई पीढ़ी में पढ़ने की आदत विकसित करना जरूरी : सीएम

नई पीढ़ी में पढ़ने की आदत विकसित करना जरूरी : सीएम

नई पीढ़ी में पढ़ने की आदत विकसित करना जरूरी : सीएम

कोलकाता। विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि अभिभावकों को इस बात का खास ख्याल रखना होगा कि नई पीढ़ी में पुस्तक पढ़ने की आदत विकसित हो। मंगलवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस बारे में ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि आज विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस है। एक अच्छी किताब एक अच्छी दोस्त होती है। पढ़ना हमारे मन का विस्तार करता है। मैं सभी माता-पिता से आग्रह करती हूं कि युवा पीढ़ी में पढ़ने की आदत विकसित करने के लिए काम करें।

विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस प्रत्येक वर्ष '23 अप्रैल' को मनाया जाता है। इसे 'विश्व पुस्तक दिवस' भी कहा जाता है। इंसान के बचपन से स्कूल से आरंभ हुई पढ़ाई जीवन के अंत तक चलती है। लेकिन अब कम्प्यूटर और इंटरनेट के प्रति बढ़ती दिलचस्पी के कारण पुस्तकों से लोगों की दूरी बढ़ती जा रही है। आज के युग में लोग नेट में फंसते जा रहे हैं। यही कारण है कि लोगों और किताबों के बीच की दूरी को पाटने के लिए यूनेस्को ने '23 अप्रैल' को 'विश्व पुस्तक दिवस' के रूप में मनाने का निर्णय लिया। यूनेस्को के निर्णय के बाद से पूरे विश्व में इस दिन 'विश्व पुस्तक दिवस' मनाया जाता है।

'23 अप्रैल', सन 1995 को पहली बार 'पुस्तक दिवस' मनाया गया था। कालांतर में यह हर देश में व्यापक होता गया। किताबों का हमारे जीवन में क्या महत्व है, इसके बारे में बताने के लिए 'विश्व पुस्तक दिवस' पर शहर के विभिन्न स्थानों पर सेमिनार आयोजित किये जाते हैं।

Tags:    

Swadesh Digital ( 10698 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top