Home > देश > राष्ट्रपति, पीएम सहित पक्ष-विपक्ष के नेताओं ने जताया गर्व, बोले - हम सब आपके साथ हैं इसरो

राष्ट्रपति, पीएम सहित पक्ष-विपक्ष के नेताओं ने जताया गर्व, बोले - हम सब आपके साथ हैं इसरो

राष्ट्रपति, पीएम सहित पक्ष-विपक्ष के नेताओं ने जताया गर्व, बोले - हम सब आपके साथ हैं इसरो

नई दिल्ली। चद्रयान-2 के मिशन में मून लैंडर विक्रम से उस समय संपर्क टूट गया, जब वह शनिवार तड़के चंद्रमा की सतह की ओर बढ़ रहा था। इससे 978 करोड़ रुपए की लागत वाले चंद्रयान-2 मिशन पर संस्पेंस बढ़ गया है। हालांकि इसके बाद भारत की इस स्पेस एजेंसी को बधाई पर बधाई मिल रहे हैं। सबने इसकी उपलब्धियों पर गर्व जताया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि चंद्रयान-2 मिशन को लेकर इसरो की टीम ने अनुकरणीय प्रतिबद्धता और साहस का प्रदर्शन किया है। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया कि देश को इसरो पर गर्व है। हम सभी बेहतर की उम्मीद करते हैं। भारत के मून लैंडर विक्रम से उस समय संपर्क टूट गया, जब वह शनिवार तड़के चंद्रमा की सतह की ओर बढ़ता जा रहा था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि आपने बहुत अच्छा काम किया है। उन्होंने कहा कि जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं और यह यात्रा जारी रहेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब मिशन बड़ा होता है तो निराशा से पार पाने का हिम्मत होना चाहिए। मेरी तरफ से आप सभी को बहुत बधाई है।

लैंडर विक्रम से इसरो का संपर्क टूट जाने के कुछ मिनट बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अंतरिक्ष एजेंसी को शानदार कार्य के लिए बधाई देते हुए कहा कि यह प्रत्येक भारतीय के लिए एक प्रेरणा है। राहुल ने ट्वीट करते हुए कहा कि इसरो की टीम को चंद्रयान-2 मून मिशन पर शानदार काम के लिए बधाई। आपका जुनून और समर्पण प्रत्येक भारतीय के लिए एक प्रेरणा है। राहुल ने कहा कि आपका का काम बेकार नहीं जाएगा। इसने कई बेजोड़ और महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की बुनियाद रखी है।

इसरो को बधाई देते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि चंद्रयान-2 को चंद्रमा के सतह के करीब पहुंचाने की इसरो की कोशिशों से हर भारतीय गौरवान्वित है। भारत हमारे प्रतिबद्ध और कठिन मेहनत करने वाले इसरो के वैज्ञानिकों के साथ है। भविष्य की यात्रा के लिए मेरी शुभकामनाएं।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि हमारे वैज्ञानिकों को हार्दिक बधाई। आपके कार्य और विशाल प्रयास हमें गौरवान्वित करते हैं। भारत आपको सलाम करता है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट करते हुए लिखा कि हम आपके साथ हैं इसरो। आपने अंतरिक्ष में अपनी उपलब्धियों को महसूस कराने के लिए राष्ट्र, इसके युवा दिमाग और सभी को एक साथ लाया है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि कोई असफलता नहीं है, केवल हमारे लक्ष्यों की उपलब्धियों के लिए अस्थायी बाधाएं हैं। हमें हर एक इसरो वैज्ञानिक पर गर्व है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमें भारतीय वैज्ञानिकों, उनके परिश्रम, मेधा और विजन पर गर्व है। आप सभी निरंतर हमारे प्रेरणा के स्रोत हैं। पूरा देश आप सभी के साथ खड़ा है।

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने शनिवार को कहा कि चंद्रयान-2 पर इसरो का प्रयास पूरे देश के लिए महत्वपूर्ण क्षण था। हर्षवर्धन ने ट्वीट किया कि प्रिय इसरो के वैज्ञानिक भारत को आप पर गर्व है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि विक्रम लैंडर से संपर्क टूट जाने के बाद भी चंद्रयान-2 मून मिशन में इसरो के वैज्ञानिकों ने बेहतरीन कार्य किया। हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। उन्होंने इतिहास रचा है, निराश होने की जरूरत नहीं है।

आपको बताते जाए कि इसरो के अध्यक्ष के. सिवन ने कहा कि संपर्क उस समय टूटा, जब विक्रम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाले स्थान से 2.1 किलोमीटर दूर रह गया था।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top