Home > Lead Story > पुलिस-वकीलों की झड़प पर किरण बेदी का ट्वीट, दिल्ली पुलिस को दी यह सलाह

पुलिस-वकीलों की झड़प पर किरण बेदी का ट्वीट, दिल्ली पुलिस को दी यह सलाह

पुलिस-वकीलों की झड़प पर किरण बेदी का ट्वीट, दिल्ली पुलिस को दी यह सलाह

नई दिल्ली। पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने तीस हजारी अदालत में पुलिस-वकीलों की झड़प पर मंगलवार को दिल्ली पुलिस को सलाह दी कि वह अपने रुख पर दृढ़ता से कायम रहे चाहे नतीजा कुछ भी हो। अब आज उन्होंने ट्वीट किया है कि नेतृत्व एक कैरेक्टर होता है जो जिम्मेदारी और सख्त फैसले लेता है। बेदी ने आगे लिखा कि मुश्किल वक्त चला जाता है लेकिन सख्त फैसलों की यादें हमेशा कायम रहती हैं।

एक अन्य ट्वीट में किरण बेदी ने लिखा कि अधिकार और उत्तरदायित्व एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। नागरिकों को इसे कभी नहीं भूलना चाहिए। जो भी हो और हम जहां भी हों। जब हम सभी कानून का पालन करने की अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह करते हैं तो कोई विवाद नहीं होता है।

वहीं, इससे पहले किरण बेदी ने शनिवार को हुई इस झड़प पर प्रतिक्रिया देते हुए बेदी ने पीटीआई-भाषा से कहा था कि उन्होंने जनवरी 1988 में ऐसी ही स्थिति का सामना किया था जब सेंट स्टीफन कॉलेज में चोरी के लिए गिरफ्तार किए गए एक वकील को हथकड़ी लगाकर तीस हजारी अदालत में पेश किया गया था।

उन्होंने कहा कि लेकिन मैं अपने रुख पर कायम रही और वकील को हथकड़ी लगाने के लिए जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के निलंबन/गिरफ्तारी की वकीलों की मांग के आगे झुकी नहीं। उन्होंने कहा कि गिरफ्तारी के समय व्यक्ति ने अपने आप को वकील नहीं बताया था और साथ ही पुलिस को दूसरा नाम दिया था।

डीजीपी रैंक की 1972 बैच की सेवानिवृत्त पूर्व आईपीएस अधिकारी बेदी ने कहा कि तीस हजारी में 1988 में पुलिस-वकील झड़प में वकील एसोसिएशंस ने उनके निलंबन तथा गिरफ्तारी की मांग की थी लेकिन तत्कालीन पुलिस आयुक्त वेद मारवाह ने मजबूती से उनका समर्थन किया और मांगों को नकार दिया था।

वह 1988 का जनवरी का महीना था जब दिल्ली पुलिस ने राजेश अग्निहोत्री नाम के वकील को गिरफ्तार किया था। सेंट स्टीफन कॉलेज के छात्रों ने उन्हें लेडीज कॉमन रूम से कथित तौर पर चोरी करते हुए पकड़ा था।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top