Latest News
Home > देश > लोगों की देशभक्ति, सशस्‍त्र बलों के साथ उनकी घनिष्‍ठता का संकेत देता है : राजनाथ सिंह

लोगों की देशभक्ति, सशस्‍त्र बलों के साथ उनकी घनिष्‍ठता का संकेत देता है : राजनाथ सिंह

अरुणाचल प्रदेश के तवांग में 'मैत्री दिवस' समारोह में हुए शामिल कहा- सरकार पूर्वोत्‍तर औद्योगिक गलियारा बनाने पर विचार कर रही है

लोगों की देशभक्ति, सशस्‍त्र बलों के साथ उनकी घनिष्‍ठता का संकेत देता है : राजनाथ सिंह

अरुणाचल प्रदेश। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि नए भारत का रास्ता नए पूर्वोत्तर से होकर गुजरता है। इसलिए सरकार पूर्वोत्तर औद्योगिक गलियारा बनाने पर विचार कर रही है। उन्होंने गुरुवार को अरुणाचल प्रदेश के तवांग में 11वें मैत्री दिवस समारोह को संबोधित करने के दाैरान यह जानकारी दी।

रक्षा मंत्री ने कहा कि अरुणाचल गलियारा भारत और दक्षिण एशिया के बीच भूमि सेतु के रूप में काम करेगा। यह गलियारा रोजगार अवसरों का सृजन करेगा और व्‍यापार तथा पर्यटन को बढ़ावा देगा। राजनाथ सिंह ने एक्‍ट ईस्‍ट नी‍ति के अंतर्गत पूर्वोत्‍तर क्षेत्र के विकास पर सरकार की प्राथमिकता की चर्चा करते हुए कहा कि भारत प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में चौतरफा विकास के मार्ग पर आगे बढ़ रहा है। उन्‍होंने कहा कि नए भारत का मार्ग नए पूर्वोत्‍तर से होकर गुजरता है।

सीमा क्षेत्रों में कनेक्टिविटी में सुधार के प्रति सरकार के संकल्‍प की चर्चा करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा है कि इस दिशा में लिए गए निर्णयों में सेला दर्रा से तवांग तक सुरंग निर्माण, पासीघाट हवाई अड्डे को चालू करना, ईटानगर के निकट होलोंगी हवाई अड्डा स्‍थापना की मंजूरी और क्षेत्र में तीन रणनीतिक रेल लाइनों की स्‍थापना के लिए कार्य शामिल हैं। उन्‍होंने कहा कि इन परियोजनाओं से स्‍थानीय लोगों को सभी मौसम में कनेक्टिविटी मिलेगी, सशस्‍त्र बलों की आवाजाही में मदद मिलेगी और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

उन्‍होंने अरुणाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री पेमा खांडू की पंचवर्षीय सड़क योजना की सराहना की, जिसके तहत 2024 तक सभी वर्तमान अंतर-राज्‍य तथा अंतर-जिला सड़कें राज्‍य उच्‍च मार्ग मानकों के अनुरूप उन्‍नत बनाई जाएंगी। रक्षा मंत्री ने कहा कि मैत्री दिवस समारोह क्षेत्र के लोगों की देशभक्ति तथा सशस्‍त्र बलों के साथ उनकी घनिष्‍ठता का संकेत देता है। उन्‍होंने कहा कि नागरिक और सेना की मित्रता इस बात का आश्‍वासन है कि देश की सीमा दोहरे रूप से सुरक्षित हैं। उन्‍होंने कहा कि नए भारत के सपनों को साकार करने के लिए लोगों, नागरिक प्रशासन, पुलिस तथा केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बलों में एक भाव होना चाहिए।

रक्षा मंत्री ने सीमावर्ती राज्‍य के युवाओं से सशस्‍त्र सेनाओं में शामिल होने का आग्रह किया। उन्‍होंने कहा कि अरुणाचल प्रदेश के लोग अपनी देशभक्ति के लिए जाने जाते हैं। उन्‍होंने कहा कि मंत्रालय तवांग सहित अरुणाचल प्रदेश के अन्‍य भागों में सेना भर्ती केन्‍द्र स्‍थापित करने का काम करेगा।

रक्षामंत्री ने बताया कि रक्षा मंत्रालय ईटानगर में सेना संपर्क सेल बनाने पर विचार कर रही है ताकि अरुणाचल प्रदेश में संचालन उद्देश्‍यों के लिए सेना के साथ सहयोग में सहायता हो सके।

दो दिवसीय सामाजिक-सैन्‍य सांस्‍कृति समारोह भारतीय सेना, तवांग नागरिक प्रशासन तथा स्‍वंयसेवियों द्वारा किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में राजनाथ सिंह मुख्‍य अतिथि थे और सम्‍मेलन का उद्घाटन संयुक्‍त रूप से अरुणाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री पेमा खांडू तथा पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान ने किया।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top