Top
Home > देश > भारत-पुर्तगाल के बीच विविध क्षेत्रों में हुए सात करार

भारत-पुर्तगाल के बीच विविध क्षेत्रों में हुए सात करार

- यह करार शिक्षा, विज्ञान, तकनीकी और व्यापार के क्षेत्र में आपसी सहयोग से जुड़े

भारत-पुर्तगाल के बीच विविध क्षेत्रों में हुए सात करार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और पुर्तगाली राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा के बीच शुक्रवार को प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के बाद सात करारों पर हस्ताक्षर किए गए। यह करार शिक्षा, विज्ञान, तकनीकी और व्यापार के क्षेत्र में आपसी सहयोग से जुड़े हैं।

विदेश मंत्रालय के अनुसार दोनों देशों के बीच लोथल (गुजरात) में एक राष्ट्रीय समुद्री संग्रहालय विरासत परिसर की स्थापना, औद्योगिक और बौद्धिक संपदा अधिकारों के क्षेत्र में सहयोग, राजनयिक प्रशिक्षण, इन्वेस्ट इंडिया और स्टार्ट-अप पुर्तगाल के बीच सहयोग को लेकर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। ऑडियो-विजुअल क्षेत्र में मिलकर काम करने और समुद्री परिवहन व बंदरगाह विकास पर सहयोग समझौता हुआ। दोनों देशों ने मोबिलिटी पार्टनरशिप पर संयुक्त घोषणा भी की।

इसके अलावा सात समझौता ज्ञापनों की घोषणा की गई जो रक्षा, विज्ञान और योग क्षेत्र में सहयोग से जुड़े हैं। इसमें सामरिक और सुरक्षा क्षेत्रों में सहयोग के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ डिफेंस स्टडीज एंड एनालिसिस(आईडीएसए) और लिस्बन विश्वविद्यालय के सामाजिक और राजनीतिक विज्ञान संस्थान के बीच सहयोग, नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर इंटरडिसिप्लिनरी साइंस एंड टेक्नोलॉजी (सीएसआईआर-एनआईआईएसटी), तिरुवनंतपुरम और इंस्टीट्यूटो सुपीरियर टेक्निको (आईएलची) पुर्तगाल के बीच विज्ञान में सहयोग, वी-हब तेलंगाना और पार्कुसिब कोविला के बीच महिला स्टार्ट-अप उद्यमियों के बीच आपसी आदान-प्रदान, नैनो-बायोटेक्नोलॉजी में सहकारिता के लिए टेरी-डीईएकेआईएल सेंटर, गुरुग्राम और अंतरराष्ट्रीय इबेरियन नैनो टेक्नोलॉजी प्रयोगशाला (आईएनएल) ब्रागा के बीच सहयोग, एयरोनॉटिक्स में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड और सीईआईआईए के बीच सहयोग से जुड़े समझौता ज्ञापन शामिल है।

इसके अलावा ड्रोन के उत्पादन के लिए वेदा रक्षा और यूए विजन के बीच सहयोग, बैंगलोर और पुर्तगाली योग परिसंघ के बीच पुर्तगाली स्कूली बच्चों को योग के लाभों पर एक वैज्ञानिक तौर पर प्रमाणित परियोजना संचालित करने से जुड़े समझौता ज्ञापन की घोषणा की गई।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुर्तगाली राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा से शुक्रवार को द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति की समीक्षा के लिए बातचीत की। दोपहर को राष्ट्रपति मार्सेलो ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मुलाकात की और विभिन्न विषयों पर चर्चा की। इसके बाद दोनों देशों के नेताओं के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई।

पुर्तगाली राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेलो डी सूसा चार दिवसीय यात्रा के लिए गुरुवार देर शाम नई दिल्ली पहुंचे। आज सुबह उनका राष्ट्रपति भवन में आधिकारिक स्वागत किया गया। इसके बाद उन्होंने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधी पर श्रद्धासुमन अर्पित किए।

पुर्तगाल के राष्ट्रपति के प्रतिनिधिमंडल में राज्यमंत्री और विदेश मामलों के प्रोफेसर ऑगस्टो सैंटोस सिल्वा, अंतरराष्ट्रीयकरण राज्य सचिव प्रोफेसर यूरिको ब्रिलेंटे डायस और राष्ट्रीय रक्षा जोर्ज सेगुरो सेंचुरी के राज्य सचिव शामिल हैं।

शनिवार को राष्ट्रपति मार्सेलो मुंबई जाएगे और राज्यपाल से मुलाकात करेंगे। इसी दिन वह वहां से गोवा भी जाएंगे, जहां अगले दिन वह मुख्यमंत्री से मिलेंगे और अन्य कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

दोनों देश विज्ञान, संस्कृति और शिक्षा और व्यापार के विभिन्न क्षेत्रों में सक्रिय सहयोग बढ़ा रहे हैं। इस यात्रा से दोनों के आपसी संबंधों अधिक मजूबत होंगे। पुर्तगाल के साथ भारत के संबंधों में हाल के दिनों में काफी प्रगति हुई है। इसमें दिसम्बर,2019 में प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा की भारत यात्रा और जून 2017 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पुर्तगाल यात्रा ने महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

यह राष्ट्रपति मार्सेलो की पहली भारत यात्रा है। वहीं इससे पहले 2007 में पुर्तगाली राष्ट्रपति ने भारत का दौरा किया था।

Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top