Home > देश > जनता को गुमराह करने का षड्यंत्र रच रहे हैं कुछ राजनैतिक दल

जनता को गुमराह करने का षड्यंत्र रच रहे हैं कुछ राजनैतिक दल

जनता को गुमराह करने का षड्यंत्र रच रहे हैं कुछ राजनैतिक दल

नई दिल्ली। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने गुरुवार को कहा कि कुछ राजनैतिक दल एवं उसके नेता देश की जनता को अपनी बातों और मुद्दों से अपने पक्ष में कर पाने में असमर्थ होने पर उन्हें गुमराह करने का आपराधिक षड्यंत्र(क्रिमिनल कॉन्स्पीरेसी) करने में लिप्त हैं।

अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित 'भारत के मन की बात, मोदी के साथ' कार्यक्रम में उपस्थित अल्पसंख्यक समाज के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए नकवी ने कहा कि ऐसे 'करप्ट, क्रिमिनल कॉन्स्पिरेटर्स' नेता 'मोदी विरोध की धुन में राष्ट्रविरोधियों के जाल में फंसते जा रहे हैं।'

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि इन राजनैतिक दलों एवं ऐसे लोगों को यह अच्छी तरह समझ लेना चाहिए कि देश की जनता किसी भी तरह भ्रमित नहीं होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार 'इकबाल, इंसाफ और ईमान' की सरकार है, जिसका 'विकास का मसौदा' किसी भी तरह से 'वोट का सौदा' नहीं है। कोई भी राजनैतिक अपराधिक षड्यंत्र मोदी सरकार की विश्वसनीयता को खत्म नहीं कर पाएगा। देश की जनता ऐसे दलों एवं लोगों को मुहत देगी और एक बार फिर बहुमत से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनाएगी। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता थावर चंद गहलोत भी उपस्थित रहे।

नकवी ने कहा कि 'तुष्टिकरण के बिना सशक्तिकरण' और 'सम्मान के साथ सशक्तिकरण' की मोदी सरकार की नीति का नतीजा है कि आज अल्पसंख्यक भी देश के विकास के बराबर के हिस्सेदार-भागीदार बने हैं। 'नामुमकिन को मुमकिन' बनाने की मजबूत शख्सियत का नाम ही नरेन्द्र मोदी है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं मुद्रा योजना, उज्ज्वला योजना, आयुष्मान भारत योजना, स्टैंड अप इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, जन धन योजना आदि का लाभ बड़ी संख्या में अल्पसंख्यकों सहित समाज के जरूरतमंदों को पहुंचा है।

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि मोदी सरकार ने सीखो ओर कमाओ, उस्ताद, गरीब नवाज कौशल विकास योजना, नई मंजिल आदि रोजगारपरक कौशल विकास योजनाओं के माध्यम से लगभग 6 लाख युवाओं को कौशल विकास व रोजगार-रोजगार के अवसर मुहैया कराए हैं, जिनमें लगभग 50 प्रतिशत लड़कियां शामिल हैं। 'हुनर हाट' के माध्यम से पिछले 2 वर्षों में 2 लाख से ज्यादा अल्पसंख्यक समुदाय के दस्तकारों, शिल्पकारों को रोजगार-रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए गए हैं।

मोदी सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों के शैक्षिक सशक्तिकरण के प्रयासों का नतीजा है कि अल्पसंख्यक विशेषकर मुस्लिम लड़कियों का स्कूल ड्रॉपआउट रेट जो पहले 70-72 प्रतिशत था, वह अब घटकर लगभग 35 प्रतिशत रह गया है। हम इसे जीरो प्रतिशत करेंगे। मोदी सरकार के कार्यकाल में विभिन्न स्कॉलरशिप योजनाओं से गरीब, कमजोर अल्पसंख्यक समाज के रिकॉर्ड लगभग 3 करोड 83 लाख विद्यार्थी लाभान्वित हुए हैं, जिनमें लगभग 60 प्रतिशत छात्राएं शामिल हैं।

नकवी ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार 'प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम' के तहत अल्पसंख्यक मंत्रालय ने देश भर में वक्फ सम्पत्तियों पर स्कूल, कॉलेज, आईटीआई, कौशल विकास केंद्र, बहु-उदेशीय सामुदायिक केंद्र 'सद्भाव मंडप', 'हुनर हब', अस्पताल, व्यावसायिक केंद्र आदि का निर्माण कराया है।

'भारत के मन की बात, मोदी के साथ' कार्यक्रम में अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिनिधियों ने 2019 लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा के 'संकल्प पत्र' के लिए सुझाव दिए। नकवी ने कहा कि भाजपा इन सभी सुझावों को गंभीरता से लेकर इन्हें 'संकल्प पत्र' में शामिल करेगी।

नकवी ने आगे कहा कि 2019 लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा का 'संकल्प पत्र' किसी भी पार्टी द्वारा करोड़ों लोगों की भागीदारी से बनाया जाने वाला पहला 'संकल्प पत्र' होगा। भाजपा का यह प्रयास नए भारत का संकल्प पत्र होगा, समाज के सभी तबकों के जीवन में परिवर्तन और खुशहाली का 'ईमानदार लेखा जोखा और ब्लू प्रिंट' होगा।

Tags:    

Swadesh Digital ( 8868 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top