Home > देश > अमेरिकी शोध संस्थान ने जारी किए आंकड़े

अमेरिकी शोध संस्थान ने जारी किए आंकड़े

जब तक आप यह खबर पूरी पढेंग़े तब तक कई लोग गरीबी रेखा से निकल चुके होंगे।

अमेरिकी शोध संस्थान ने जारी किए आंकड़े

भारत में अब हर मिनट 44 लोग गरीबी रेखा से आ रहे बाहर

नई दिल्ली | जब तक आप यह खबर पूरी पढेंग़े तब तक कई लोग गरीबी रेखा से निकल चुके होंगे। अमेरिकी शोध संस्था की ओर से भारत में गरीबी को लेकर जारी ताजा आंकड़े मोदी सरकार को सुकून देने वाले हैं। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पिछले कुछ साल में भारत में गरीबों की संख्या बेहद तेजी से घट रही है। अच्छी बात यह है कि भारत में सबसे ज्यादा गरीब देश होने का ठप्पा भी खत्म हो गया है। देश में हर मिनट 44 लोग गरीबी रेखा के बाहर निकल रहे हैं। यह दुनिया में गरीबी घटने की सबसे तेज दर है। यह दावा अमेरिकी शोध संस्था ब्रूकिंग्स के ब्लॉग, फ्यूचर डेवलपमेंट में जारी रिपोर्ट में किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार देश में 2022 तक 3 प्रतिशत से कम लोग ही गरीबी रेखा के नीचे होंगे। वहीं 2030 तक बेहद गरीबी में जीने वाले लोगों की संख्या देश मेें न के बराबर रहेगी।

सबसे अधिक गरीबी नाइजीरिया में

रिपोर्ट में बताया गया है कि फिलहाल दुनिया में सबसे अधिक गरीब लोगों की संख्या नाइजीरिया में है। वहीं गरीबी के लिहाज से भारत तीसरे स्थान पर है। मई 2018 के अंत तक नाइजीरिया में बेहद गरीब लोगों की संख्या लगभग 8.7 करोड़ रही, वहीं भारत में लगभग 7.3 करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे दर्ज किए गए। नाइजीरिया में जहां हर मिनट लगभग छह लोग गरीबी रेखा के नीचे चले जा रहे हैं वहीं भारत में गरीबी में लगातार कमी आ रही है।


Swadesh Digital ( 9575 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top