Home > देश > राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद पर अजित डोभाल की दोबारा नियुक्ति

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद पर अजित डोभाल की दोबारा नियुक्ति

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद पर अजित डोभाल की दोबारा नियुक्ति

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल पर एक बार फिर भरोसा जताया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनको दोबारा अगले पांच साल तक के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया है। इसके साथ ही पिछले पांच साल के कार्यकाल के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा में उनके योगदान को ध्यान में रखते हुए उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्रदान किया गया है

गत वर्ष पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान की सीमा में घुसकर बालाकोट स्थित आतंकी ठिकानों को ध्वस्त करने की वायुसेना की रणनीति को मूल रूप से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने ही तैयार किया था। वायुसेना, नौसेना के शीर्ष अधिकारियों से रणनीति पर विस्तृत चर्चा से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हर पल की जानकारी देने तक में उनकी अहम भूमिका रही।

इससे पहले 2016 में हुई सर्जिकल स्ट्राइक की पटकथा भी डोभाल ने ही तैयार की थी। माना जा रहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा में डोभाल के योगदान को देखते हुए प्रधानमंत्री ने उनको एक और कार्यकाल देने का फैसला किया।

उल्लेखनीय है कि साल 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अजीत डोभाल को देश का पांचवां राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया था। डोभाल 1988 में कीर्ति चक्र प्राप्त करने वाले पहले पुलिस अधिकारी हैं । वर्ष 1968 में वह अखिल भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के लिए चुने गए और उन्हें केरल कैडर मिला। इसके बाद मिजोरम और पंजाब में उग्रवाद पर काबू पाने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई। वर्ष 1999 में कंधार विमान हाईजैक में सरकार के प्रमुख तीन वार्ताकारों में भी डोभाल शामिल रहे थे। वर्ष 1990 में कश्मीर में उग्रवाद पर काबू के लिए डोभाल को केंद्र सरकार ने जम्मू एवं कश्मीर भेजा था।

Tags:    

Swadesh Digital ( 9476 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top