Home > राज्य > अन्य > बिहार > नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांगने वाली राजद ने लोस चुनाव के लिए क्यों नहीं चुना नया नेता

नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांगने वाली राजद ने लोस चुनाव के लिए क्यों नहीं चुना नया नेता

नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांगने वाली राजद ने लोस चुनाव के लिए क्यों नहीं चुना नया नेता

पटना। राजद की ओर से लोकसभा चुनाव का टिकट वितरण के लिए पार्टी सुप्रीमो लालू यादव को अधिकृत करने पर प्रतिक्रिया देते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि गरीबों को धोखा देकर सत्ता पाने की नीयत रखने वाले राजद ने अपने अध्यक्ष के चारा घोटाला में सजायाफ्ता होने के बावजूद उनकी जगह नया नेता नहीं चुना, जबकि पार्टी बात- बात पर दूसरों से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांगती है।

उपमुख्यमंत्री ने शनिवार को यहां कहा कि पार्टी प्रमुख के सामने जब जेल से टिकट बांटने में संवैधानिक अड़चन आयी, तो संविधान बचाओ यात्रा का नाटक करने वालों ने एक बार फिर सीनियर नेताओं को किनारे रख कर टिकट बांटने का अधिकार परिवार में ही रख लिया। राजद में न आंतरिक लोकतंत्र है, न ही विकास की चिंता।

कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि बिहार प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता ने पार्टी से इस्तीफा देकर उन लोगों के मुंह पर करारा तमाचा लगाया है, जो आतंकवाद और पाकिस्तान के खिलाफ कुछ न बोल कर सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगते हुए सेना का मनोबल गिराने में लगे हैं। कांग्रेस और राजद जैसे दलों ने भाजपा-विरोध और भारत-विरोध की सीमा मिटा दी है।

उन्होंने प्रधानमंत्री की प्रशंसा करते हुए कहा कि बिहार के बक्सर में 10 हजार करोड़ से ज्यादा की लागत से लगने वाले 660 मेगावाट के दो पावर प्लांट का शिलान्यास कर प्रधानमंत्री ने राज्य की ऊर्जा और प्रकाश संबंधी जरूरतों को पूरा करने का वादा निभाया। लालटेन पार्टी को अंधेरे के विरुद्ध सर्जिकल स्ट्राइक के ये सबूत दिखाई नहीं पड़ते।

Tags:    

Swadesh Digital ( 8915 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Share it
Top