Home > राज्य > अन्य > बिहार > लालू ने जेल के 19 महीनों में से इतने महीने रिम्स के पेइंग वार्ड में काटे

लालू ने जेल के 19 महीनों में से इतने महीने रिम्स के पेइंग वार्ड में काटे

सजायाफ्ता लालू ने जेल के 19 महीनों में से ज्यादातर समय रिम्स के पेइंग वार्ड में काटा

लालू ने जेल के 19 महीनों में से इतने महीने रिम्स के पेइंग वार्ड में काटे

रांची। चारा घोटाले के अलग-अलग मामलों में सजा पाने के बाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने जेल के 19 महीनों में से 17 महीने रिम्स (राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज) में ही काटे हैं और अब भी उनकी तबीयत पूरी तरह से ठीक नहीं हुई है।

लालू यादव 23 दिसंबर 2017 से जेल में हैं। जेल जाने के महज दो महीने बाद ही उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। लालू को पहले रिम्स में भर्ती कराया गया, फिर बेहतर इलाज के लिए उन्‍हें दिल्ली के ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स) भेजा गया। मई 2018 में एम्स में फिट घोषित होने के बाद वे दोबारा रिम्स में भर्ती हुए। यहां से अपने बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी के लिए उन्‍हें पैरोल मिल गई। बेटे की शादी से वापस आने के क्रम में झारखंड उच्‍च न्‍यायालय ने लालू प्रसाद यादव पर कड़ी टिप्‍पणी करते हुए कहा था कि वे सजायाफ्ता हैं और बीमार हैं। ऐसे में वे अस्‍पताल में रहें या जेल में। वे आखिर पटना में घर पर क्‍या कर रहे हैं।

इसके बाद उन्‍हें मुंबई स्थित हार्ट हॉस्पिटल में इलाज के लिए झारखंड हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत दी। मई 2018 में रिम्स लौटने के बाद से ही उनका इलाज चल रहा है। यहां उन्‍हाेंने अपने खर्चे पर पेइंग वार्ड ले रखा है। जिसमें एयर कंडीशनर सहित तमाम सुविधाएं उपलब्ध हैं। उन्‍हें जेल प्रशासन के आदेश पर दो सेवादार भी उपलब्‍ध कराए गए हैं। यहां लालू की सुरक्षा के लिए 42 पुलिसकर्मी भी तैनात हैं। हाल में ही देवघर कोषागार मामले में झारखंड हाईकोर्ट ने लालू प्रसाद यादव को जमानत दी है।

लालू यादव कभी भी भेजे जा सकते हैं रिम्स से जेल, रिपोर्ट का इंतजार

चारा घोटाले में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की तबीयत में धीरे-धीरे सुधार हो रही है। उन्हें अब कभी भी बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार (रांची) भेजा जा सकता है। जेल अधीक्षक अशोक कुमार चौधरी ने बताया कि रिम्स (राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज) के डॉक्टरों की रिपोर्ट में सबकुछ सामान्य मिला तो लालू प्रसाद जेल लाए जाएंगे। अभीतक डॉक्टरों की रिपोर्ट नहीं मिली है। जेल में शिफ्ट करने के लिए सकारात्मक रिपोर्ट का इंतजार है।

जांच के बाद लालू यादव की सारी टेस्‍ट रिपोर्ट नॉर्मलः डॉ. डीके झा

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का इलाज कर रहे डॉ. डीके झा ने बताया कि लालू की हर महीने जांच की जाती है। इस बार किडनी, लीवर और यूरिक एसिड की जांच हुई है। इसमें सब कुछ सामान्य मिला है। पहले लालू का हीमोग्लोबिन कम था, जो जांच के बाद सात तक पहुंच गया है। शुगर भी नियंत्रित है। किडनी 50 फीसदी से अधिक काम कर रहा है। कुल मिलाकर उनकी तबीयत में बहुत सुधार है।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं। यहां उनके शुगर, किडनी, हाईब्लड प्रेशर, फिस्चुला और लीवर से संबंधित 11 बीमारियों का इलाज डॉ. उमेश प्रसाद और डॉ. डीके झा की देखरेख में चल रहा है। अब लालू प्रसाद की तबीयत में पूरी तरह सुधार बताया जा रहा है। (हि.स.)

Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Share it
Top