Home > Archived > पाक को फिर झटका देने की तैयारी में अमेरिका, मानव तस्करी को लेकर रोकेगा सहायता

पाक को फिर झटका देने की तैयारी में अमेरिका, मानव तस्करी को लेकर रोकेगा सहायता

पाक को फिर झटका देने की तैयारी में अमेरिका, मानव तस्करी को लेकर रोकेगा सहायता

इस्लामाबाद। पाकिस्तान को इस साल मिलने वाली करोड़ों डॉलर की अमेरिकी असैनिक सहायता पर तलवार लटक रही है। ट्रंप प्रशासन ने चेतावनी दी है कि पाकिस्तान ने मानव तस्करी से निपटने के लिए पर्याप्त नहीं किया तो यह सहायता रोकी जा सकती है। इस सहायता कटौती से अमेरिका और पाकिस्तान के संबंधों को ताजा झटका लगेगा। बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने पर जनवरी में पाकिस्तान को करीब दो अरब डॉलर (करीब 13059 करोड़ रुपये) की सुरक्षा सहायता रोक दी थी। इस्लामाबाद स्थित अमेरिकी दूतावास सूत्र के मुताबिक, अमेरिकी असैनिक सहायता 2017 का एक बड़ा हिस्सा 26.5 करोड़ डॉलर (करीब 1730 करोड़ रुपये) रोका जा सकता है। ऐसा अमेरिकी विदेश मंत्रालय द्वारा पाकिस्तान को मानव तस्करी के मामले में दुनिया भर में सबसे खराब काम करने वालों की सूची में रखे जाने पर किया जा सकता है। इस मामले विदेश मंत्रालय की वार्षिक ट्रैफिकिंग इन पर्सन (टीआइपी) रिपोर्ट जून में आने वाली है।

अमेरिका के संघीय कानून के तहत मानव तस्करी के मामले में सबसे नीचे ग्रेड में रहने वाले देश पर यह प्रतिबंध लगाया जा सकता है। हालांकि ट्रंप इसमें पूरी या आंशिक छूट दे सकते हैं। यह सहायता राशि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था के आकार के हिसाब से काफी मामूली है। लेकिन अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) और विश्व बैंक जैसी अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थाओं से मिलने वाली नई सहायता पर अमेरिका के विरोध करने पर पाकिस्तान को तगड़ा झटका लग सकता है। ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस पर फैसला नहीं हुआ है लेकिन पाकिस्तान को सहायता कटौती से बचने के लिए अपनी रैंकिंग सुधारने को कहा गया है।

क्या है टीआइपी रिपोर्ट
अमेरिकी विदेश मंत्रालय की ट्रैफिकिंग इन पर्सन (टीआइपी) रिपोर्ट में करीब 180 देशों में मानव तस्करी से जुड़े मसलों से निपटने के लिए किए जा रहे काम का आकलन किया जाता है। पाकिस्तान पिछले चार वर्षों से इस सूची में टीयर-2 में है। अगर पाकिस्तान ने सुधार नहीं किया तो सबसे निचली रैंकिंग टीयर-3 में ईरान, उत्तर कोरिया, सीरिया और अन्य के साथ शामिल हो जाएगा। टीयर-3 रैंकिंग का मतलब मानव तस्करी पर अमेरिका के न्यूनतम मानदंड का पालन नहीं किया जाना है।

Share it
Top