Home > Archived > भारत दुनिया का चौथा सबसे ताकतवर देश

भारत दुनिया का चौथा सबसे ताकतवर देश

भारत दुनिया का चौथा सबसे ताकतवर देश


नई दिल्ली, स्वससे। दुनिया भर के देशों की सेनाओं और रक्षा शक्ति का विश्लेषण करने वाली संस्था ग्लोबल फायर पावर के मुताबिक सैन्य ताकत के मामले में दुनिया में चौथे नंबर पर है। सैन्य ताकत के मामले में साल 2017 के अपने विश्लेषण में ग्लोबल फायर पावर ने 133 देशों की सूची जारी की है। हथियारों और बुनियादी सैन्य सुविधाओं के लिहाज से भारत, अमरीका, रूस और चीन से पीछे है, जबकि फ्रांस और ब्रिटेन से आगे है। ग्लोबल फायर पावर ने सैन्य ताकत पर अपने विश्लेषण में सिर्फ पारंपरिक युद्ध हथियारों और उपकरणों को शामिल किया है, इसमें परमाणु हथियारों को शामिल नहीं किया गया है।

साल 2017 में अमरीका का रक्षा बजट 587 अरब डॉलर था, जबकि चीन का रक्षा बजट 161 अरब डॉलर था। चीन में सक्रिय सैनिकों की संख्या 22 लाख और रिजर्व सैनिकों की संख्या 14 लाख है। उसके पास तीन हजार लड़ाकू विमान और साढ़े छह हजार टैंक हैं। चीन का रक्षा बजट भारत के मुकाबले तीन गुना अधिक है। साल 2017 के लिए भारत का रक्षा बजट 51 अरब डॉलर था। ग्लोबल फायर पावर के मुताबिक अमरीका के पास 13 हजार से अधिक जहाज हैं जिनमें लड़ाकू, परिवहन और हेलिकॉप्टर शामिल हैं।

भारत के पास लड़ाकू जहाजों की संख्या दो हजार से अधिक है। सक्रिय सैनिकों की संख्या 13 लाख से अधिक है। इसके अलावा 28 लाख रिजर्व जवान भी हैं, जो जरूरत पड़ने पर फौज की मदद कर सकते हैं। भारत में टैंकों की संख्या तकरीबन 4400 है। सक्रिय युद्ध पोतों की संख्या दो है। पाकिस्तान दुनिया में 13वीं सबसे बड़ी फौजी ताकत है। पाकिस्तान ने पिछले कुछ सालों के मुकाबले 2017 में अपनी ताकत में बढ़ोत्तरी की है और शीर्ष 15 देशों की सूची में जगह बना ली है। इस सूची के अनुसार पाकिस्तान दुनिया का 13वां सबसे शक्तिशाली देश है। उसका रक्षा बजट सात अरब डॉलर है और सक्रिय सैनिकों की संख्या छह लाख 37 हजार है। इसके अलावा तकरीबन तीन लाख रिजर्व सैनिक भी हैं। हैलिकॉप्टर और ट्रांसपोर्ट जहाजों समेत लड़ाकू जहाजों की संख्या तकरीबन एक हजार और टैंकों की संख्या तीन हजार के करीब है। पाकिस्तान के पास युद्ध पोत नहीं है लेकिन दूसरे प्रकार के समुद्री जहाजों की तादाद तकरीबन 200 है। इस सूची के अनुसार 81 लाख की आबादी वाला देश इजरायल नौवें नंबर पर है। उसके पास 650 लड़ाकू विमान और ढाई हजार से अधिक टैंक हैं।

Share it
Top