Home > Archived > 20 बड़े कथित साहूकारों ने पांच हजार करोड़ रूपए की धनराशि दबाकर मुंह फेरा

20 बड़े कथित साहूकारों ने पांच हजार करोड़ रूपए की धनराशि दबाकर मुंह फेरा

20 बड़े कथित साहूकारों ने पांच हजार करोड़ रूपए की धनराशि दबाकर मुंह फेरा

-होली की शुभकामनाएं लेने से भी कतरा रहे है उक्त धन्ना सेठ
-लोगों ने जीवन भर की पूंजी इन धन्ना सेठों पर लगाई थी ब्याज पर, उन्हें अब मिल रहीं हैं धमकियां

मथुरा। होली के दिन दिल मिल जाते है, रंगों में रंग मिल जाते हैं। गिले शिकवे छोड़कर दोस्तों, दुश्मन भी गले लग जाते हैं। लेकिन यहां तो कर्ज लेकर धन्ना सेठ गले मिलना तो दूर होली की शुभकामनाएं लेने से भी कतरा रहे हैं, मुंह छिपाते फिर रहे हैं। जिन लोगों से उन्होंने जीवन भर की उनकी कमाई को ब्याज पर लिया है अब उनसे मिलना तक मुनासिब नहीं समझ रहे हैं। ऐसे लोगों ने पंपलेट छपवाकर इन धन्ना सेठों को बेनकाब किया है।
लेनदारों द्वारा इन धन्नासेठों के खिलाफ छपवाकर बंटवाये जा रहे पंपलेट में आरोप लगाया गया है कि देनदारी के भय से घर के अंदर मौजूद होने के बावजूद उन्हें बाहर से यह कहकर टहला दिया जाता है कि सेठ जी घर पर नहीं है। इन बेइमानों में शहर के ऐसे सेठ शामिल हैं जो सामाजिक व व्यापारिक संगठनों में बड़े औहदों पर है। लोगों का रूपया लौटाने के स्थान पर वो अपने रूतबे, रौब का बेजा इस्तेमाल कर उन लोगों को धमका रहे हैं।
अपना रूपया गंवा बैठे लोगों ने इन धन्ना सेठों के चेहरे से नकाब उतारने के लिए एक पम्पलेट मथुरा की जनता के नाम जारी किया है जिसे शहर में वितरित किया जा रहा है। इस पैंपलेट में मैटल का कारोबार करने वाले एक परिवार पर आरोप लगाए गए हैं। ये कर्जदार हैं लेकिन जिनका पैसा है उनसे बदतमीजी से बात करते हैं। कर्जा होने के बाद भी हाल ही में शहर से बाहर राजसी अंदाज में लगभग 10 करोड़ की शादी फाइव स्टार होटल में की है। होलीगेट का सर्राफा कारोबारी भी चर्चा में है। जब भी कोई अपना पैसा लेने आता है उसे वृंदावन के फ्लैट दिखाकर कई गुना कीमतें बताकर टरका दिया जाता है। लोहा कारोबारी लोगों को लोहे के चने चवबा रहा है तो होटल, रेस्टोरेंट कारोबारी गालियां खिला रहा है। एक कसेरे ने वृंदावन में अय्याशी का सामान रखा है तो बेटा शिक्षा के मंदिर में अस्मत से खिलवाड़ कर रहा है।
अधिकांश माल मारू मथुरा के मिनी आसाराम बापू के चेले
गरीबों का पांच हजार करोड़ रूपया हड़प करने वाले शहर के ये धन्ना सेठ मथुरा के एक मिनी आसाराम बापू के चेले है। बताया जाता है कि धर्म और आस्था के नाम पर आए धन को इन महाराज श्री ने भी इन धन्ना सेठों को ब्याज पर दे रखा है। अब इधर गुरु जी की नींद भी उड़ी हुई है। उधर कुछ चेले गुरु की शरण में जाने से भी कतरा रहे हैं।

Share it
Top