Home > Archived > लालू के इंतजार में जेल गेट पर जमे रहे राजद नेता

लालू के इंतजार में जेल गेट पर जमे रहे राजद नेता

लालू के इंतजार में जेल गेट पर जमे रहे राजद नेता

रांची। चारा घोटाला मामले में शुक्रवार को लालू यादव के अधिवक्ता की तरफ से कोर्ट में एक अर्जी दाखिल की गई, जिसमें कहा गया है कि वह जेल में बीमार हैं।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को सीबीआई कोर्ट जाने को लेकर जेल गेट पर शुक्रवार सुबह से ही सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद थी। लालू के निकलने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। जेल गेट पुलिस छावनी में तब्दील था। कार्यकर्ता भी लालू के इंतजार में थे। सबकी निगाहें जेल के मुख्य द्वार की ओर टिकी हुई थी।

इस दौरान जेल गेट पर खड़े लालू समर्थक कोर्ट में खड़े समर्थकों से लगातार संपर्क करते रहे कि लालू की बारी आयी या नहीं। कोर्ट में खड़े समर्थक भी जेल गेट के समर्थकों को फोन कर लालू के निकलने की बात पूछते रहे। दर्जनों बार कार्यकर्ताओं ने जेल गेट पर तैनात पुलिसकर्मियों से लालू के जेल से निकलने की बात पूछते रहे लेकिन हर बार यही जवाब मिलता कि जेल अधीक्षक ही इस बारे में कुछ बता सकेंगे। इस तरह जेल गेट पर लालू समर्थक उनके निकलने का इंतजार करते रहे। इस बीच दोपहर दो बजे खबर मिली कि लालू को पेशी के लिए कोर्ट नहीं ले जाया जाएगा बल्कि वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पेशी होगी। इसके बाद जेल गेट पर खड़े सभी समर्थक धीरे-धीरे वहां से निकलने लगे। सभी समर्थक कोर्ट पहुंच गए। जेल गेट पर लालू समर्थकों में भोला यादव, अनिल सिंह आजाद, विजय यादव, रंजन कुमार, इरफान अहमद सहित कई लोग मौजूद थे।

एसएसपी, सिटी एसपी को देख बढ़ी चहल-पहल

जेल गेट पर लगभग 1:50 बजे अचानक एसएसपी कुलदीप द्विवेदी, सिटी एसपी अमन कुमार, ट्रैफिक एसपी संजय रंजन सिंह, डीडीसी समेत अन्य अधिकारी पहुंचे। वे जैप 10 में आयोजित स्किल समिट 2018 के आयोजन को लेकर बैठक में शामिल होने गए थे। समिट का आयोजन 12 जनवरी को होना है, इसकी तैयारी पर चर्चा किया जाना था। जब तक एसएसपी वापस नहीं निकले, लोगों के मन में संशय बरकरार था।

जेल से लेकर कोर्ट तक सुरक्षा का दिखा पुख्ता इंतजाम

होटवार स्थित जेल से लेकर लालू के कोर्ट जाने वाले मार्ग पर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम था। जेल गेट से लेकर बुटी मोड़ से बरियातू रोड पर जितने भी सड़क के बीच कट थे उन पर सुरक्षाबल तैनात थे। वहीं कोर्ट के मेन गेट और दूसरे गेट पर भी सुरक्षाबलों को तैनात किया गया था। अचानक सीबीआई के विशेष न्यायाधीश ई-कोर्ट पहुंचे। ई-कोर्ट के बाहर सुरक्षा में तैनात डीएसपी और इंस्पेक्टर सहित अन्य सुरक्षाबल ई-कोर्ट के अंदर किसी को भी अंदर जाने नहीं दिया। सीबीआई के अधिवक्ता और बचाव पक्ष के अधिवक्ता को छोड़ किसी को ई-कोर्ट में नहीं जाने दिया गया। हालांकि कोर्ट में राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह, मनोज पांडेय, अर्जुन यादव, गौतम सागर राणा सहित कई नेता पहुंचे थे।

Share it
Top