Home > Archived > सुषमा स्वराज की मेजबानी के कायल हुए मेहमान राष्ट्राध्यक्ष

सुषमा स्वराज की मेजबानी के कायल हुए मेहमान राष्ट्राध्यक्ष

सुषमा स्वराज की मेजबानी के कायल हुए मेहमान राष्ट्राध्यक्ष

नई दिल्ली। आसियान-भारत शिखर सम्मेलन के दूसरे दिन गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान एक ऐसा वाकया हुआ कि सारे मेहमान राष्ट्राध्यक्ष विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की मेजबानी के कायल हो गए। दिल्ली के राजपथ पर होनेवाली गणतंत्र दिवस समारोह की परेड देखने के लिए आमंत्रित मेहमान राष्ट्राध्यक्ष जब मंच पर बैठे, तो दिल्ली की सर्दी के चलते उन्हें ठंड लगने लगी। कोई भी मेहमान राष्ट्राध्यक्ष इस बात को कह नहीं पा रहा था, लेकिन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ये बात भांप ली और तुरंत 10 शॉल मंगवाकर अपने मेहमानों को दिए जिससे मेहमान आराम से पूरी परेड का आनंद ले सके।

भारत के 69वें गणतंत्र दिवस समारोह पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक ऐतिहासिक पहल करते हुए इतिहास रचा है। आजाद भारत के इतिहास में यह पहली बार हुआ कि दुनिया के 10 देशों के राष्ट्राध्यक्ष भारतीय गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि बने। खास बात ये है कि ये सभी आसियान देश म्यांमार, कंबोडिया, वियतनाम, लाओस पीडीआर, सिंगापुर, ब्रुनेई, थाईलैंड, इडोनेशिया, फिलीपींस और मलेशिया हैं, जो मिलकर दक्षिण एवं पूर्व एशिया क्षेत्र का सबसे शक्तिशाली अंतर्राष्ट्रीय संगठन आसियान बनाते हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने फैसला किया था कि साल 2018 के गणतंत्र दिवस के मौके पर ही भारत-आसियान मित्रता के 25 साल पूरे होने की खुशी का जश्न मनाया जाए। इसीलिए भारत ने आसियान-भारत शिखर सम्मेलन का आयोजन 25-26 जनवरी को किया। इसमें आसियान सदस्य देशों को आमंत्रित किया गया। आसियान देशों ने पीएम मोदी का आमंत्रण स्वीकारा और भारत के 69वें गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बने। इस बार गणतंत्र दिवस पर आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्षों में वियतनाम के प्रधानमंत्री, गुयेन झुआन फुक, कंबोडिया के प्रधानमंत्री समेक तिको हू सेन, म्यांमार की दाऊ आंग सान सू की, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली हिसियन लूंग, ब्रुनेई दारुसलाम के सुल्तान हसनल बोलकेयाह, फिलीपिंस के राष्ट्रपति रोड्रिगो रॉआ डूटेटेटे, थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रयुत चान-ओ-चा, इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो, लाओ पीडीआर के प्रधानमंत्री थोंग्लौन सिसलीथ और मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए।

गुरुवार को नई दिल्ली में आसियान-भारत शिखर सम्मेलन की आधिकारिक शुरुआत हुई। अपनी तरह का यह पहला दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन है जो शुक्रवार तक है। इसमें आसियान सदस्य देशों के 10 राष्ट्राध्यक्षों ने शिरकत की है। साथ ही सभी मेहमान राष्ट्राध्यक्ष गणतंत्र दिवस समारोह पर मुख्य अतिथि भी हुए हैं। आसियान दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों का संगठन है, जो सार्क, बिमस्टेक, आईओए क्षेत्रीय संगठनों की तर्ज पर क्षेत्रीय विकास के लिए सदस्य देशों को एक मंच पर लाने का काम करता है। भारत आसियान का आधिकारिक नहीं, आमंत्रित सदस्य है।

Share it
Top