Home > Archived > रेलवे के प्रोबेशनर अधि​कारी विकसित करें सकारात्मक नजरिया : राष्ट्रपति

रेलवे के प्रोबेशनर अधि​कारी विकसित करें सकारात्मक नजरिया : राष्ट्रपति

रेलवे के प्रोबेशनर अधि​कारी विकसित करें सकारात्मक नजरिया : राष्ट्रपति

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रोबेशनर अधिकारियों को सकारात्मक नजरिया विकसित करने की सलाह देते हुए कहा कि इससे उन्हें कार्यस्थल औऱ समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में मदद मिलेगी। विभिन्न रेल सेवाओं के प्रोबेशनरों के एक समूह ने बुधवार को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रोबेशनरी अधिकारियों को याद दिलाया कि वे लोग एक ऐसी संस्था में शामिल हो रहे हैं, जहां उन्हें प्रतिदिन लाखों शहरियों और देश की सेवा करने का अनोखा अवसर प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि भारतीय रेल राष्ट्र सेवा और राष्ट्र निर्माण की एक अहम संस्था है। अकेले 2015-16 के दौरान ही भारतीय रेल ने 8 अरब से अधिक यात्रियों की सेवा की। उन्होंने कहा कि रेल नेटवर्क हमारी सांस्कृतिक विरासत और परंपरा का प्रसार करता है। चाहे वह कुंभ मेला के अवसर पर चलाई जाने वाली विशेष गाड़ी हो या ‘पैलेस ऑन व्हील्स’ जैसी शाही गाड़ी हो| इन सब के प्रति दुनियाभर के लोग आकर्षित होते हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे शहरों के बीच रेलगाड़ी तीव्र जन-यातायात के रूप में उभर रही है। मेट्रो परियोजनाओं को तमाम शहर तेज, सुरक्षित और सस्ते यातायात के तौर पर अपना रहे हैं। इससे कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी और शहरों को जाम की स्थिति से मुक्ति मिलेगी।

Share it
Top