Home > Archived > अब मालनपुर में बनेगी एलपीजी गैस

अब मालनपुर में बनेगी एलपीजी गैस

अब मालनपुर में बनेगी एलपीजी गैस

-केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के प्रयासों से रंग ला रही औद्योगिक इकाइयां
ग्वालियर। केन्द्रीय मंत्री एवं ग्वालियर संसदीय क्षेत्र के सांसद नरेन्द्र सिंह तोमर के प्रयासों से औद्योगिक क्षेत्र में ग्वालियर को एक के बाद एक बड़ी उपलब्धियां हासिल हो रही है। बिलौआ में जहां 80 करोड़ रुपए की लागत से प्लास्टिक पार्क विकसित हो रहा है, जिसके तैयार होने पर लगभग 2000 लोगों को रोजगार हासिल होगा वहीं महाराजपुरा मार्ग पर सीपेड सेन्ट्रल इंस्टीट्यूट आॅफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी खुलने जा रहा है।

इसी के साथ एलपीजी गैस के लिए अब ग्वालियर को बाहर के भरोसे रहने की जरूरत नहीं है क्योंकि मालनपुर में इंडियन आॅयल कंपनी को 30 एकड़ जमीन उपलब्ध कराई जा रही है, जिस पर 150 करोड़ रुपए की लागत से कंपनी वाटलिंग प्लांट लगाएगी, जिससे यहीं से आसपास के क्षेत्रों में एलपीजी गैस का वितरण किया जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि श्री तोमर सांसद बनने के बाद भले ही किसी भी विभाग के मंत्री रहे हों लेकिन ग्वालियर में रोजगार और आमजन को सुविधाएं दिलाने के लिए सदैव तत्पर रहते हैं। पिछले दिनों जहां उन्होंने ग्वालियर में चार फ्लाई ओवरों की केन्द्र से मंजूरी कराई थी, वहीं ग्वालियर और उसके आसपास नए उद्योग स्थापित कराने में वे जी-जान से जुटे हुए हैं। बिलौआ क्षेत्र में प्लास्टिक पार्क बनने से 108 भूखण्डों पर 100 यूनिटें काम शुरू करेंगी जिससे 2 हजार से भी अधिक लोग रोजगार हासिल कर सकेंगे। यह पार्क डेढ साल के भीतर मूर्त रूप ले लेगा। सीपेड इंस्टीट्यूट के आने से प्लास्टिक में इंजीनियरिंग में शिक्षा शुरू हो जाएगी जो सभी जगह के छात्र-छात्राओं के लिए लाभकारी होगी। इसके लिए 10 एकड़ जमीन और 40 करोड़ रुपए मंजूर हुए हैं। इसी के साथ मुरार में लेदर फैक्ट्री वाले स्थान पर टेक्सटाइल इन्क्यूवेंशन सेंटर खुलने जा रहा है।

इस पर 15.72 करोड़ की लागत आएगी। इसका भूमिपूजन इसी माह के आखिर में श्री तोमर द्वारा किया जाएगा। वहीं शनिचरा मार्ग पर पिपरसेवा के लिए 80 हेक्टेयर जमीन आवंटित हुई है, इसके लिए 60 करोड़ रुपए मंजूर हुए हैं। यहां 5 किलोमीटर सड़क का निर्माण भी होगा। यह जगह विकसित होना शुरू हो गई है। बामौर औद्योगिक क्षेत्र में मयूर यूनिकोट्स कंपनी सुरेश पौद्दार द्वारा लाई जा रही है जिसमें खिलाड़ियों के लिए कपड़े बनेंगे। ग्वालियर व उसके आसपास सबसे बड़ी सौंगात रसोई से जुड़ी हुई हैं। जिसके तहत एलपीजी गैस के लिए अब हमें विजयपुर या अन्य किसी स्थानों की वाट नहीं जोहना होगी। क्योंकि मालनपुर में 30 एकड़ जमीन पर 150 करोड़ रुपए की लागत से इंडियन आॅयल कंपनी का वाटलिंग प्लांट लगन जा रहा है। इस तरह यह गैस मालनपुर में ही बन जाएगी।
ग्वालियर व इसके आसपास औद्योगिक इकाइयां स्थापित की जा रही है ताकि यहां के लोगों को रोजगार के साथ शिक्षा मिले और वे अन्य लाभों से भी लाभांवित हो। इसके लिए केन्द्र और राज्य सरकारें पूरी मदद दे रही है।

नरेन्द्र सिंह तोमर, केन्द्रीय मंत्री

बिलौआ में प्लास्टिक पार्क, मालनपुर में इंडियन आॅयल, शनिचरा के पास पिपरसेवा, महाराज पुरा के पास सीपेड और सीतापुर में मयूर यूनिकोट्स की इकाइयां स्थापित हो रही है। इसके लिए क्षेत्र विकसित करने का काम तेजी से चल रहा है।

सतेन्द्र सिंह, प्रबंध संचालक एकेवीएन

Share it
Top