Home > Archived > अनाथ बनकर अरमान ने पहचान छिपाई, युवती से किया विवाह

अनाथ बनकर अरमान ने पहचान छिपाई, युवती से किया विवाह

अनाथ बनकर अरमान ने पहचान छिपाई, युवती से किया विवाह

-लव जिहाद का एक और सनसनीखेज मामला सामने आया
-आरोपियों के खिलाफ दुष्कर्म सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज

ग्वालियर।
शहर में एक बार फिर एक हिन्दू युवती सुनियोजित लव जिहाद का शिकार हो गई। मुस्लिम युवक ने फेसबुक पर इस हिन्दू युवती से दोस्ती की और उसे अपने चंगुल में फंसाकर हिन्दू रीति रिवाज से विवाह कर लिया। सच्चाई का पता चलने पर युवती को जान से मारने का प्रयास किया गया। लव जिहाद का शिकार होने पता चलते ही युवती भागकर अपने घर पहुंची और आपबीती परिजनों को सुनाई। पुलिस ने आरोपी युवक, उसके माता-पिता और बहन के खिलाफ दुष्कर्म सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार तारागंज स्थित बंजारे वाली गली में रहने वाले आरोपी अरमान खान ने फेसबुक पर अपनी अमन झा नाम से फर्जी आई.डी. बनाई। फेसबुक पर रानी (परिवर्तित नाम) से अरमान की दोस्ती हो गई। रानी को अरमान खान ने अपने चंगुल में फंसाकर उससे मुलकात की और स्वयं को अनाथ बताते हुए उससे विवाह का प्रस्ताव रख दिया। रानी के परिजन अरमान की पहचान नहीं कर सके और बेटी की खुशी को देखते हुए अरमान के साथ उसका चार मार्च को इंटक मैदान के पास स्थित मंगलम गार्डन में धूमधाम से विवाह कर दिया। जयपुर में प्राइवेट कम्पनी में काम करने वाला अरमान बेहद शातिर है। उसने रानी को तनिक भी भनक नहीं लगने दी कि वह मुस्लिम है और उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। बताया गया है कि रानी से विवाह करने के बाद अरमान उसे जयपुर में ही छोड़कर ग्वालियर आया और उसने नौ अप्रैल को गोरखी पानी टंकी के पीछे स्थित राठौर पैलेस में एक मुस्लिम युवती के साथ निकाह कर लिया। एक माह बाद ही दूसरा विवाह करने वाले अरमान की सच्चाई का रानी को अभी हाल ही में पता चला तो वह दंग रह गई। अरमान के चंगुल में फंसी और लव जिहाद का शिकार बनी रानी जयपुर से किसी तरह ग्वालियर आई, जहां तारागंज में अरमान ने उसे अपने घर में रखा। बताया गया है कि अरमान के पिता भूरे खां, मां कनिका बेगम, बहन महेसर और आरिफ खान ने मिलकर रानी पर धर्म परिवर्तन करने के लिए दबाव बनाया। जब रानी ने ऐसा करने से मना कर दिया तो उसकी सब लोगों ने मारपीट की और उसे जान से मारने का प्रयास किया। बड़ी मुश्किल से रानी जान बचाकर वहां से भाग निकली। लव जिहाद का शिकार बनी रानी अपने परिजनों को लेकर उपनगर ग्वालियर थाना पहुंची और पुलिस को अपनी पीड़ा सुनाई। पुलिस ने अरमान, उसके पिता भूरे खां, मां कनिका बेगम, बहन महेसर एवं आरिफ खान के खिलाफ धारा 420, 376, 323, 506, 34 और म.प्र. धर्म स्वतंत्रता अधिनियम 1965 की धारा 3/4 के तहत मामला दर्ज कर सभी आरोपियों की सरगर्मी से तलाश प्रारंभ कर दी है।
फेसबुक पर नौ फर्जी आईडी चलाता है अरमान :- फेसबुक चलाने में मास्टर अरमान ने अमन झा नाम से नौ फर्जी आईडी बना रखी हैं, जिनके माध्यम से वह लोगों से बातें करके उनको गुमराह करता है। रानी भी उसे अमन झा समझकर उसके चंगुल में फंसकर लव जिहाद का शिकार हो गई।

धर्म परिवर्तन के लिए उकसाया:- पीड़िता रानी ने बताया कि उसे अरमान के मुस्लिम होने का पता चला तो वह उसे जयपुर से ग्वालियर ले आया। यहां पर पूरे परिवार ने उस पर जबरन धर्म परिवर्तन करने के लिए दबाव बनाया, लेकिन उसने उनकी एक नहीं सुनी और उनकी करतूत सबके सामने उजगार कर दी।

इनका कहना है

‘‘अरमान खान ने अपनी पहचान छिपाकर हिन्दू युवती से विवाह किया था। उसके पूरे परिवार के खिलाफ मामला दर्ज उनकी तलाश में छापामार कार्रवाई की जा रही है। मामला लव जिहाद का है।’’

एम.एम. मालवीय
ग्वालियर थाना प्रभारी

माता-पिता तक को नहीं लगने दिया सुराग

आरोपी अरमान खान कितना शातिर है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसने पीड़िता रानी के माता-पिता और भाई को अपने धर्म और असली नाम का पता नहीं चलने दिया। उसने अमन झा बनकर रानी के परिजनों से कहा कि मैं अनाथ हूं और मेरा पालन-पोषण मामा-मामी ने किया है, जो भोपाल में रहते हैं, लेकिन उसने मामा-मामी से रानी के परिजनों को नहीं मिलाया।

Share it
Top