Home > Archived > तीन माह का दिया था अल्टीमेटम, नहीं बन पाए प्रस्ताव

तीन माह का दिया था अल्टीमेटम, नहीं बन पाए प्रस्ताव

तीन माह का दिया था अल्टीमेटम, नहीं बन पाए प्रस्ताव

-संभाग आयुक्त के निर्देश भी हवा में, मामला जिला अस्पताल में शवगृह का
ग्वालियर/सुजान सिंह बैस।
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों का भी पालन नहीं कर रहे हैं। इसका उदाहरण संभाग आयुक्त का वह निर्देश है, जिसमें उन्होंने मुरार जिला अस्पताल में शवगृह प्रारंभ करने के लिए कहा था। तीन माह पूर्व दिए गए इन निर्देशों के पालन में अभी तक कोई पहल नहीं की गई है।

यहां बता दें कि जयारोग्य अस्पताल के शवगृह में तीन माह पहले चूहे द्वारा मृत महिला की आंख कुतरने का मामला सामने आया था। इस मामले को लेकर जयारोग्य अस्पताल की छवि तो खराब हुई ही थी, साथ ही संभाग आयुक्त ने अस्पताल के एक चिकित्सक पर भी कार्रवाई की थी। संभाग आयुक्त ने जयारोग्य के शवगृह का निरीक्षण भी किया था। इस दौरान चिकित्सकों ने बताया था कि मुरार जिला अस्पताल में शवगृह न होने के कारण यहां जिले भर के शव पोस्टमार्टम के लिए आते हैं। इस कारण शवगृह में कभी-कभी शवों को रखने तक की जगह नहीं बचती है। इसके चलते संभाग आयुक्त एस.एन. रूपला ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस.एस. जादौन को सख्त निर्देश देते हुए कहा था कि अगर तीन माह में जिला अस्पताल में शवगृह तैयार नहीं हुआ तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी, लेकिन आज तीन माह बीत जाने के बाद भी डॉ. जादौन जिला अस्पताल में शवगृह का काम शुरू कराने की बात तो दूर, उसका प्रस्ताव तक तैयार नहीं करा पाए हैं। इससे यह बात साफ है कि डॉ. जादौन को न तो किसी कार्रवाई का डर है और न ही संभाग आयुक्त के निर्देशों से कोई फर्क पड़ता है।

इनका कहना है

‘शवगृह के लिए रोगी कल्याण समिति में प्रस्ताव रखा गया था, लेकिन जिलाधीश ने बजट देने से इंकार कर दिया था, जिसके चलते मिशन संचालक को पत्र लिखा गया है, जिसकी एक प्रति जयारोग्य अस्पताल के फोरेंसिक विभागाध्यक्ष डॉ. सार्थक जुगरान को भी दी गई है। जल्द ही बजट स्वीकृत होते ही काम शुरू करा दिया जाएगा।’

डॉ. एस.एस. जादौन
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

‘जयारोग्य अस्पताल के शवगृह की व्यवस्थाएं हमने दुरुस्त करा दी हैं। जिला अस्पताल में शवगृह बनवाने के निर्देश सीएमएचओ को दिए थे, जिसमें अब तक क्या कार्रवाई हुई है। इसकी जानकारी ली जाएगी।’

एस.एन. रूपला
संभाग आयुक्त, ग्वालियर

Share it
Top