Latest News
Home > Archived > लालू और तेजस्वी पेश नहीं हुए सीबीआई के समक्ष, फिर बुलाएगी

लालू और तेजस्वी पेश नहीं हुए सीबीआई के समक्ष, फिर बुलाएगी

लालू और तेजस्वी पेश नहीं हुए सीबीआई के समक्ष, फिर बुलाएगी

नई दिल्ली। पूर्व रेल मंत्री लालू यादव और उनके पुत्र तेजस्वी यादव क्रमश: सोमवार और मंगलवार को सीबीआई के समक्ष प्रस्तुत नहीं होंगे। उन्हें आईआरसीटीसी के दो होटलों के रखरखाव का ठेका एक निजी फर्म को देने की एवज में रिश्वत लेने के कथित आरोप के मामले में सीबीआई के समक्ष पेश होना था।

सीबीआई सूत्रों ने सोमवार को यहां बताया कि लालू यादव ने रांची में चल रहे अपने एक मुकदमे का हवाला दिया है जबकि तेजस्वी ने उन्हें पूर्व राजनीतिक प्रतिबद्धता के चलते 11 और 12 सितंबर को सम्मन की तिथि पर सीबीआई के समक्ष पेश होने में असमर्थता व्यक्त की है। एक उच्च अधिकारी ने बताया कि अब जांच एजेंसी सम्मन के लिए दोनों को नई तिथि पर बुलाएगी।

गौरतलब है कि लालू यादव को 11 सितंबर को और तेजस्वी को 12 सितंबर को सीबीआई के समक्ष पूछताछ के लिए प्रस्तुत होना था। प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि लालू यादव ने रेल मंत्री रहते रेलवे के रांची और पुरी स्थित बीएनआर होटलों का रखरखाव का ठेका विनय और विजय कोचर के स्वामित्व वाली कंपनी सुजाता होटल को सौंप दिया था जिसके बाद बेनामी कंपनी डिलाईट के माध्यम से 3 एकड़ जमीन रिश्वत के रूप में प्राप्त की थी जो बहुत महंगे और अच्छे स्थान पर थी।

सीबीआई ने लालू, उनकी पत्नी राबड़ी, पुत्र तेजस्वी और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता के विरुद्ध इस आशय का एक मामला दर्ज किया था। प्राथमिकी में विजय कोचर, विनय कोचर जो दोनों सुजाता होटल के निदेशक तथा चाणक्य होटल तथा डिलाइट मार्केटिंग कंपनी जो अब लारा प्रोजेक्ट के नाम से जानी जाती है के मालिक हैं तथा तत्कालीन प्रबंध निदेशक पीके गोयल को आरोपी बनाया है।

Share it
Top