Home > Archived > कल आईएमए दिल्ली में करेगा देशव्यापी आंदोलन

कल आईएमए दिल्ली में करेगा देशव्यापी आंदोलन

कल आईएमए दिल्ली में करेगा देशव्यापी आंदोलन


ग्वालियर, न.सं.। चिकित्सकों पर हो रहे जानलेवा हमलों और प्रशासन के साथ हुर्इं कई बैठकों के बाद भी एलोपैथिक चिकित्सकों की जायज मांगों पर ध्यान न दिए जाने के कारण एलोपैथिक चिकित्सकों में रोष व्याप्त है। इसी के चलते शासन-प्रशासन को नींद से जगाने के लिए सेन्ट्रल इंडियन मेडिकल एसोसिएशन अखिल भारतीय स्तर पर दिल्ली में छह जून को आंदोलन करेगी। यह जानकारी रविवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में आईएमए के अध्यक्ष डॉ. दिनेश उदैनिया ने दी।

डॉ. उदैनिया ने बताया कि इस आंदोलन में देश भर से लगभग 30 हजार से अधिक चिकित्सक दिल्ली में एकत्रित हो कर राष्ट्रीय रैली में शामिल होंगे। इसके लिए ग्वालियर से लगभग 40 चिकित्सक भी दिल्ली पहुंचेंगे।

डॉ. उदैनिया ने बताया कि इस आंदोलन में जो चिकित्सक दिल्ली नहीं जा पा रहे हैं, वह रैली के समर्थन में आधे दिन 9 से 5 बजे तक इमरजेंसी सेवा को छोड़कर अपना सामान्य कार्य बंद रखेंगे। उन्होंने बताया कि इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए इंडियन मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन सहित शहर की कई संस्थाओं ने समर्थन दिया है। इस आवसर पर सेन्ट्रल वर्किंग कमेटी के सदस्य डॉ. अशोक मिश्रा, डॉ. ए.एस. भल्ला, एमटीए के अध्यक्ष डॉ. सुनील अग्रवाल, डॉ. राकेश रायजादा, डॉ. के.के. मगनानी सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित थे।

यह हैं प्रमुख मांगें

* नेशनल मेडिकल काउंसिल रोको इंडियन मेडिकल काउंसिल एक्ट में संशोधन किया जाए।
* नेशनल एग्जिट टेस्ट नेक्सट निरस्त हो।
* एलोपैथी दवाइयां लिखने की पात्रता एमबीबीए व बीडीएस के चिकित्सकों को ही हो।
* दवाइयां लिखने में चिकित्सकों को स्वायत्तता मिले।
* चिकित्सकों को कन्जयूमर प्रोटेक्शन एक्ट में कम्पनसेसन में छूट मिले।
* पीसीपीएनडीटी व क्लीनिकल स्टेविलिस्टमेन्ट एक्ट में आवश्यक संशोधन किए जाएं।
* एक दवाई की एक ही कीमत तय की जाए।
* चिकित्सकों की जवाबदेही एक ही विभाग के प्रति हो।
* चिकित्सकों एवं चिकित्सा संस्थानों के रजिस्ट्रेशनों की कार्यप्रणाली समान हो।
* झोलाछाप चिकित्सकों के विरुद्ध केन्द्रीय कानून बनाए जाएं।
* आकस्मिक परिस्थितियों में निजी चिकित्सकों द्वारा दी जाने वाली सेवाओं का पुनर्भुगतान किया जाए।
* फैमिली मेडिसिन में पीजी की 25000 सीटें स्वीकृत की जाएं।

Share it
Top