Home > Archived > अपराध के मामलों का निपटारा करने उच्च न्यायालय गंभीर

अपराध के मामलों का निपटारा करने उच्च न्यायालय गंभीर

अपराध के मामलों का निपटारा करने उच्च न्यायालय गंभीर

22 मई से सभी न्यायाधीश मुकदमों की करेंगे सुनवाई, कार्य सप्ताह दिवस मनेगाग्वालियर। अब 22 मई से उच्च न्यायालय खण्डपीठ ग्वालियर में अगले सात दिन तक सभी न्यायाधीश मुकदमों की सुनवाई करेंगे। इस दौरान मुख्य रूप से वे अपीलें सुनी जाएंगी, जिसमें 10 वर्ष के कारावास की सजा का प्रावधान है। उच्च न्यायालय की मुख्यपीठ ने निर्णय लिया है कि गर्मी और सर्दी के अवकाश का पहला सप्ताह कार्य अवकाश के रूप में मनाया जाएगा। मुख्यपीठ के निर्देश पर पहले सप्ताह में इस योजना को अंतिम रूप दे दिया गया है। इसके तहत 10 हजार से अधिक प्रकरणों को सूचीबद्घ भी कर लिए गया है। यहां बता दें कि वर्तमान में उच्च न्यायालय खण्डपीठ ग्वालियर में सिर्फ अपराध के हजारों प्रकरण सालों से लम्बित हैं। इन पर अब तक निर्णय नहीं हो सका है। ऐसे प्रकरणों का निराकरण होने से पक्षकार और विचाराधीन कैदियों को राहत मिलेगी।

अपराध के प्रकरण में जल्द होगी सुनवाई:- जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश की उच्च न्यायालय की तीनों खण्डपीठों में अपराध संबंधी मामले बड़ी संख्या में सुनवायी और निर्णय के लिए लम्बित हैं। मुख्य न्यायाधीश के आदेश अनुसार उच्च न्यायालय ने ऐसी व्यवस्था की है कि अपराध के मामलों के साथ सिविल और अन्य मामलों पर भी खण्डपीठों में अपीलों की सुनवाई होगी। इसके साथ ही एकलपीठ और खंडपीठ प्रकरणों की सुनवाई करेगा। इसमें अपराध के प्रकरणों को पहले वरीयता दी जाएगी।

सोमवार व गुरुवार को ग्रीष्मावकाश बेंच बैठेगी

आगामी उच्च न्यायालय खण्डपीठ जबलपुर के निर्णय के बाद गर्मी के अवकाश के पहले सप्ताह को पूर्ण रूप से कार्य दिवस सप्ताह बनाने की योजना के बाद आने वाले दिनों में सोमवार व गुरुवार को इस सप्ताह के जरिए आवश्यक प्रकरणों की सुनवाई की जाएगी। बताया गया है कि अधिवक्ताओं को इसमें पूरी तरह से स्वतंत्रता दी गई है।

Share it
Top