Top
Home > Archived > डीआरएम ने सही कहा था कि आप लोगों की आदत ही खराब है

डीआरएम ने सही कहा था कि आप लोगों की आदत ही खराब है

डीआरएम ने सही कहा था कि आप लोगों की आदत ही खराब है

डीआरएम के आदेश को रेलवे अधिकारियों ने दिखाया ठेंगा
ग्वालियर।
स्टेशन की समस्याओं के प्रति रेलवे स्टेशन के अधिकारी गंभीर नहीं हैं। बीते शुक्रवार को निरीक्षण के दौरान दिए गए डीआरएम के आदेश को भी हवा में उड़ा दिया गया। आदेश के बाद भी स्टेशन के सभी प्लेटफार्मों पर पार्सल का सामान बिखरा पड़ा हुआ है। डीआरएम के जाने के बाद आज तक न तो पार्सल का सामान व्यवस्थित तरीके से रखा जा रहा है और न ही ठीक से सफाई हो रही है।

उन्होंने अधिकारियों से नाराजगी जताते हुए पार्सल का सामान बीच में न रखने को भी कहा था। पार्सल विभाग के अधिकारियों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया है। अभी भी प्लेटफार्म पर जहां-तहां सामान रखा हुआ है। इसके कारण यात्रियों को निकलने में परेशानी हो रही है। वहीं आदेश के बाद भी रेलवे स्टेशन पर जगह -जगह गंदगी पसरी हुई है। बीते शुक्रवार को ग्वालियर रेलवे स्टेशन के सभी प्लेटफार्मो का डीआरएम अशोक मिश्र ने निरीक्षण किया था। इस दौरान उन्होंने पार्सल विभाग के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए यहां तक कह दिया था कि आप लोगों की आदत ही खराब है। इतनी फटकार लगने के बाद भी रेलवे के अधिकारी पार्सल को व्यवस्थित नहीं रख पा रहे हैं।

कांटा मशीन अभी तक रखी हुई है:- प्लेटफार्म दो पर निरीक्षण के दौरान डीआरएम श्री अग्रवाल ने कांटा मशीन को हटाने के निर्देश दिए थे। इस मशीन को उन्होंने म्यूजियम में रखने की बात कही थी। लेकिन आज तक वह मशीन जहां की तहां पड़ी है।

पार्सल विभाग में जगह, लेकिन सामान बाहर:- ग्वालियर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक एक पर बने पार्सल कार्यालय में सामान रखने की काफी जगह है। लेकिन कर्मचारियों की कमी के चलते पार्सल का सामान प्लेटफार्म पर ही रखवा दिया जाता है। जैसे ही ट्रेन प्लेटफार्म पर पहुंचती है वैसे ही पार्सल का सामान ट्रेनों में चढ़ा दिया जाता है।

एस्केलेटर के सामान से यात्रियों को होती है परेशानी
रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक दो व तीन पर आगरा एंड की ओर एस्केलेटर को शिफ्ट करने का कार्य कंपनी द्वारा किया जाता है। सभी गाड़ियों के सामान्य कोच पीछे की तरफ ही रूकते हैं, ऐसे में यात्रियों को चढ़ने व उतरने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। क्योंकि यात्रियों को जहां उतरना है वहां पर एस्केलेटर का सामान रखा हुआ है।

यात्रियों के बैठने के स्थान पर रखा पार्सल का सामान
प्लेटफार्म क्रमांक एक के आगरा एंड की ओर यात्रियों को बैठने के लिए जो सीटें बनाई गई हैं वहां पर पार्सल का सामान रखा हुआ है। जिसके चलते यात्रियों को पार्सल के ऊपर ही बैठना पड़ता है। यहां तक कि कई बार तो कर्मचारी यात्रियों को उस स्थान पर बैठने ही नहीं देता। जिसके चलते यात्रियों को मजबूरी में जमीन पर बैठना पड़ता है।

इनका कहना है
अगर ऐसा है तो मामला दिखवाया जाएगा और संबंधित विभाग के अधिकारियों से चर्चा की जाएगी ।

मनोज कुमार सिंह
पीआरओ ,झांसी

Next Story
Share it
Top