Home > Archived > अपनी शक्ति भुला बैठी हैं नारियां: प्रमिला ताई

अपनी शक्ति भुला बैठी हैं नारियां: प्रमिला ताई

राष्ट्र सेविका समिति ने महिला दिवस पर चिन्मयी महिला विमर्श किया
मथुरा
नारी स्वयं को नटेश्वर की शक्ति स्वरूपा मानते हुए भी यदि स्वयं को दुर्बल समझे तो चैतन्ययुक्त चिन्मयी विचारों के रहते दुर्बलता का एहसास होना दुखद है। उक्त विचार राष्ट्र सेविका समिति द्वारा अग्रवाटिका में भगिनी निवेदिता सार्ध शती 2017 में महिला दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित चिन्मयी महिला विमर्श चिन्तन में हिन्दू चिन्तन में सशक्त नारी संकल्पना विषय पर मुख्य अतिथि पूर्व प्रमुख संचालिका (रा.से.स.) प्रमिला ताई मेढ़े ने व्यक्त किये।

उन्होंने कहा कि शक्ति स्वरूपा नारियों की अवहेलना संसार की किसी भी शक्ति को विचलित कर सकती है। हनुमान जी की तरह नारियाँ अपनी शक्तियाँ भुला बैठी हैं, जिन्हें याद किया जाना वर्तमान की महती आवश्यकता है। अध्यक्षीय उद्बोधन में बाल विकास परियोजना अधिकारी रेखा रानी ने महिला दिवस की शुभकामनाओं के साथ कहा कि नारी सशक्तिकरण की दिशा में देश और समाज ने अहम भूमिका का निर्वहन किया है। अस्तु जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में महिलाओं ने अग्रणी रहकर अभूतपूर्व सफलताऐं अर्जित की हैं।

कार्यक्रम संयोजिका नगर बौद्धिक प्रमुख आशा अग्रवाल ने कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हमें वैचारिक क्रान्ति के साथ कदम बढ़ाते हुए परिवार और राष्ट्र के कल्याण हेतु सतत् प्रयत्नशील रहना चाहिए। किशोरी रमण कन्या महाविद्यालय की हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. निधि शर्मा ने अतिथियों का परिचय कराया। इससे पूर्व अतिथियों द्वारा भगिनी निवेदिता व भारत माता के चित्रों के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर पुष्प अर्पित किये।

डॉ. रूचि अग्रवाल व रजनी शर्मा ने सभी का रक्षासूत्र बाँधकर व रोली की बिन्दी लगा स्वागत किया। मुख्य अतिथि प्रमिला ताई मेढ़े का मीरा अग्रवाल ने व अध्यक्षता कर रहीं रेखा रानी का कार्यक्रम संयोजिका आशा अग्रवाल ने शॉल ओढ़ाकर व श्रीफल देकर अभिनन्दन किया। सह: संयोजिका डॉ. नीतू गोस्वामी, मीरा मित्तल व ऊषा अग्रवाल ने विभिन्न समाजों का प्रतिनिधित्व करने पधारीं महिलाओं का पटुका पहनाकर स्वागत किया। द्वितीय सत्र में सशक्त महिला, सशक्त परिवार, सशक्त राष्ट्र पर परिचर्चा में बहनों ने भाग लिया। अन्त में सह: संयोजिका सरोज जुनेजा ने सभी का आभार व्यक्त किया। संचालन डॉ. दीपा अग्रवाल ने किया।

कार्यक्रम में अ.भा. बौद्धिक प्रमुख डॉ. शरद रेणु, प्रान्त निधि प्रमुख रेखा माहेश्वरी, प्रान्त कार्यवाहक ललिता अग्रवाल, प्रान्त बौद्धिक प्रमुख डॉ. मालती मिश्रा, प्रान्त समन्वय प्रमुख नीलीमा राठौर, जेसीआई कालिन्दी अध्यक्ष ममता अरोड़ा, सचिव रजनी मालपानी, श्री अग्रवाल सभा महिला समिति संरक्षिका रजनी तायल व मंत्री कुमकुम अग्रवाल, कमलेश अरोड़ा, डॉ. जमुनादेवी शर्मा, सुशील भार्गव, रश्मि शोरावाला, रजनी बंसल 'स्वीटीÓ, सरोज भरतिया, पुष्पा अग्रवाल, गरिमा कश्यप आदि थी।

Share it
Top