Home > Archived > थाने पर हमला कर हत्यारोपी को छुड़ा ले गये ग्रामीण

थाने पर हमला कर हत्यारोपी को छुड़ा ले गये ग्रामीण

थाने में भीड़ में शामिल एक महिला ने दी आत्मदाह की धमकी

हंगामे के दौरान मांट पुलिस बनी रही मूक दर्शक
मथुरा। मासूम की हत्या के आरोपी को उसके साथी ग्रामीणों की मदद से थाने पर हमलाकर छुड़ा ले गये। आरोपी को नौहझील से और थाने भेजे जाने की पुलिस की रणनीति धरी रह गयी। हमलावरों ने मांट थाने पर जमकर उत्पात भी मचाया। भीड़ में शामिल महिला ने आत्मदाह की धमकी देकर हड़कंप मचा दिया।


ज्ञात रहे कि 24 दिसम्बर 2016 को नौहझील थाना क्षेत्र के गांव नानकपुर में नेम सिंह जाटव के 13 वर्षीय पुत्र बलवीर का शव ग्राम प्रधान जीवन सिंह के खेत से बरामद हुआ था। विवेचना के दौरान ग्राम प्रधान जीवन सिंह के पुत्र रमेश चौधरी के नाम का खुलासा करते हुए पुलिस ने रविवार को उसे पकड़ लिया और नौहझील थाने ले आयी। पुलिस के पीछे-पीछे ग्रामीणों की भीड़ भी थाने पहुंच गयी। भीड़ को बढ़ते देख थाना पुलिस अभियुक्त को थाना मांट ले गई। इसकी जानकारी ग्रामीणों को होने पर वह थाना मांट पहुंचे और पुलिस के साथ गाली-गलौच, हाथापायी करते हुए जबरन पकड़े गये युवक को गाड़ी में बिठाकर अपने साथ ले गये।

बताया जाता है कि मारपीट के दौरान एक महिला ने पुलिस को थाने में ही आत्मदाह की धमकी देकर हड़कम्प मचा दिया था। घटना को पुलिस पहले से छिपाती रही लेकिन मामले के तूल पकडऩे पर करीब दो दर्जन लोगों के खिलाफ थाना नौहझील में मुकद्दमा पंजीकृत कराया गया। थाना प्रभारी नौहझील राघवेन्द्र सिंह ने बताया है कि ग्रामीणों द्वारा छुड़ाया गया रमेश हत्या का आरोपी था। उन्होंने कहा कि आरोपी को पकड़ऩे तथा छुड़ाने वालों की गिरफ्तारी के लिये पुलिस जुटी हुई है।

दूसरी तरफ बताते हैं कि थाना मांट में हुई मारपीट एवं हंगामें के बीच मांट पुलिस मूकदर्शक बनकर तमाशा देखती रही। जबकि नौहझील पुलिस ग्रामाीणों की भीड़ के सामने असहाय नजर आ रही थी। पुलिस का कहना है कि पुलिसबल बरसाना लठामार होली में होने के कारण सुरक्षा ना होने से ग्रामीण अभियुक्त को छुड़ाकर ले जाने में सफल रहे थे।


Share it
Top