Home > Archived > लाल आतंक के विरोध में राष्ट्रवादी संगठनों ने दिया धरना

लाल आतंक के विरोध में राष्ट्रवादी संगठनों ने दिया धरना

वक्ताओं ने कहा - केरल में हुई राष्ट्रवाद की हत्या
राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी को ज्ञापन भेजकर की कार्यवाही की मांग
झांसी। केरल में वामपंथी दलों के कार्यकर्ताओं द्वारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं की हत्या किये जाने के विरोध में आज स्थानीय गांधी उद्यान में धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया गया। लोक अधिकार मंच के तत्वावधान में आयोजित किए गए इस धरने में लाल आतंक की तीखी निन्दा की गई। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि केरल में जिस प्रकार से संघ व भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की जा रही है, वह राष्ट्रवाद की हत्या है। वक्ताओं ने देश के राष्ट्रपति से तत्काल कार्यवाही की मांग की है। धरना प्रदर्शन का शुभारंभ महानगर संघचालक सतीश जी अग्रवाल व प्रांत सहकार्यवाह अनिल श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर सिटी मजिस्ट्रेट को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी दिया गया।

धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय साहित्य परिषद के राष्ट्रीय मंत्री रवीन्द्र शुक्ल ने कहा कि केरल और पश्चिम बंगाल में वामपंथी दलों के कार्यकर्ताओं द्वारा राष्ट्र के लिए काम करने वालों की निरंतर हत्याएं की जा रही हैं। देश की राष्ट्रवादी संस्थाओं द्वारा विरोध दर्ज कराने के बाद भी इन पर कार्यवाही न किया जाना, निश्चित रुप से दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि वामपंथी दलों के कार्यकर्ता आतंक फैलाकर देश विरोधी वातावरण बना रहे हैं। कार्यक्रम को आचार्य अविनाश, कुंजबिहारी जी, पंकज गुप्ता, प्रांत शारीरिक प्रमुख गजेन्द्र जी, संजीव दुबे, प्रकाश राघव प्राचार्य सहित कई वक्ताओं ने संबोधित किया। सभी वक्ताओं ने लाल आतंक के विरोध में कार्यवाही की मांग की है।

वक्ताओं ने आगे कहा कि अभी तक वामपंथ के प्रभाव में आने वाले दोनों राज्यों में चार सौ से ज्यादा संघ के कार्यकर्ताओं की हत्या की जा चुकी है। जिनकी देश में हर बार निन्दा की गई। इसके साथ ही अभी हाल ही में संघ कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में देश भर में धरना प्रदर्शन किए जा रहे हैं। केरल में वैसे तो पहले से ही माकपा के कार्यकर्ता हत्या जैसी वारदातों को अंजाम देते रहे हैं, लेकिन जब से केरल में वामपंथियों की सरकार बनी है, तब से संघ कार्यकर्ताओं की हत्याओं में वृद्धि हुई है। वक्ताओं ने राष्ट्रपति से मांग की है कि इन प्रकरणों की निष्पक्ष जांच कराकर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही की जाए तथा मृतकों के परिवारों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाए।

धरना प्रदर्शन में महापौर किरन वर्मा, डॉ. कंचन जायसवाल, विश्व हिन्दू परिषद के जिला मंत्री रामेश्वर मिश्रा, संजीव श्रंगीऋषि, डॉ. आशीष अग्निहोत्री, भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष सुमन पुरोहित, जयदेव पुरोहित, कुसुम कुशवाहा, नीरजलता गुप्ता, मुकेश मिश्रा, नंदकिशोर भिलवारे, अनूप करौसिया, पवन पंडा, सौरभ रावत भांजे, प्रियांशु डे, अमरदीप, ज्ञानेन्द्र हुन्डैत, संजय चड्ढा, राजकांतेश वर्मा, विपिन गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

Share it
Top