Home > Archived > लूट के दौरान मारा गया बदमाश निकला दिल्ली का शातिर इमरान

लूट के दौरान मारा गया बदमाश निकला दिल्ली का शातिर इमरान

लूट में प्रयुक्त कार घीया मंडी से हुई बरामद
मृत बदमाश के ड्राइविंग लाइसेंस का पता निकला फर्जी
कप्तान ने किया शीघ्र खुलासे का दावा
मथुरा। महाविद्या कॉलोनी में लूटपाट के दौरान अपने ही साथी की गोली से मारे गये बदमाश की शिनाख्त दिल्ली के शातिर बदमाश इमरान के रूप में हुई है। लूट में प्रयुक्त कार शहर के घीया मण्डी क्षेत्र में स्थित घाटी बहालराय के निकट से बरामद हुई है। इससे संकेत मिलते हैं कि बदमाशों की स्थानीय व्यक्ति से सांठगांठ रही होगी। लूट के आरोपी शेष बदमाशों की तलाश में पुलिस की चार टीमें लगायी गयी है। मृत बदमाश के मोबाइल को भी पुलिस खंगाल रही है। मृत बदमाश के ड्राइविंग लाइसेंस में दिया गया पता फर्जी निकला। पुलिस कप्तान ने घटना के शीघ्र खुलासे का दावा करते हुए कहा है कि महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं।

बताया गा कि गुरूवार रात्रि होंडा सिटी कार में सवार चार बदमाशों ने गोविंद नगर के सेक्टर-एफ के मकान संख्या 212-सी निवासी रिटायर्ड सम्परीक्षा अधिकारी बीडी गुप्ता यहां धावा बोला। बीडी गुप्ता घटना के वक्त अपनी पत्नी बीना गुप्ता के साथ बाजार से लौट रहे थे। जैसे ही वह घर में घुसे तभी तीन सवार बदमाशों ने उनसे जितेंद्र का पता पूछा और बताया कि वह पुलिस वाले हैं। मना करने पर वह हथियार के बल पर उन्हें धकेलते हुए घर में ले गए। भीतर भतीजे सौरभ की पत्नी सुमन रसोई में थीं। बदमाशों ने परिजनों पर हथियार तान दिए। गुप्ता के सिर पर बट मार दी।

शगुन के मुंह में रिवॉल्वर डाल दी। फिर बदमाशों ने बीडी गुप्ता पर गोली चला दी, जो उनकी कनपटी को छूते हुए दूसरे बदमाश के जा लगी जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। अचानक हुए इस घटनाक्रम से घबराए लुटेरे फायरिंग करते हुए फरार हो गए। पुलिस ने मृत बदमाश के पास से रिवॉल्वर, दो हजार रुपये और दो मोबाइल बरामद किए। घटना को लेकर शुक्रवार को भी बीना गुप्ता व भतीजे सौरभ की पत्नी सुमन दहशत में रही।

एसएसपी मोहित गुप्ता ने बताया कि घटना के संबंध में महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं जिससे शीघ्र खुलासे की उम्मीद हैं बदमाशों की तलाश में चार टीमों को लगाया गया है। मारे गए बदमाश के पास से मिले ड्राइविंग लाइसेंस से उसकी शिनाख्त इमरान पुत्र सैफुद्दीन निवासी त्रिलोकपुरी, दिल्ली के रूप में हुई है। पुलिस इमरान के मोबाइल के सहारे अन्य बदमाशों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। इमरान के ड्राइविंग लाइसेंस की शिनाख्त कराई गई तो वह सही निकला लेकिन जो पता उसमें लिखा था, वहां इस नाम का कोई आदमी नहीं मिला। पुलिस की दो टीमों को दिल्ली रवाना किया गया है। घटना में प्रयोग की गई होंडा सिटी कार घीयामंडी स्थित घाटी बहालराय के निकट से बरामद हुई है। संभावना है कि बदमाश पकड़े जाने के भय से कार छोड़कर भागे हैं। यहां से बदमाश किसी अन्य वाहन में सवार हुए। कार में दो नंबर प्लेट लगी हुई है जिसमें एक मथुरा की व अन्य दिल्ली नंबर की है। हालांकि कार दिल्ली से रजिस्टर्ड है। घटना की रिपोर्ट अज्ञात बदमाशों के खिलाफ दर्ज कराई गयी। रिपोर्ट में भतीजे की पत्नी सुमन के दो कंगन लूट ले जाने की बात कही है।

कार स्वामी से पूछताछ करने दिल्ली पहुंची पुलिस
बदमाशों द्वारा लूट में प्रयुक्त की गई कार दिल्ली के पंजाबी बाग निवासी देवेन्द्र भार्गव के नाम रजिस्टर्ड है। पुलिस ने जब इनसे संपर्क साधा और गाड़ी के बारे में पूछताछ की तो उन्होंने पुलिस को कई बार अलग-अलग जबाव दिये। जिससे पुलिस की नजर में वह संदेह के घेरे में हैं। उन्होंने बताया कि यह कार उन्होंने ही खरीदी थी और 2015 में इससे एक्सीडेंट हुआ था और उसके बाद यह कार उनके पास नहीं है। इसे उनका बेटा चला रहा होगा। दोबारा बात की गयी तो उन्होंने कहा कि उनके बेटे से उनका कोई संबंध नहीं है और उसके बारे में उन्हें कोई पता नहीं है। फिर उसने कहा कि शायद उसका बेटा यूपी के किसी जेल में बंद है। कौन सी जेल में है यह उसे नहीं पता। मथुरा पुलिस इससे पूछताछ के लिए दिल्ली के पंजाबी बाग थाना पहुंची है। वहां की पुलिस के साथ इसे लाने की तैयारी की जा रही है।

Share it
Top