Home > Archived > ताजमहल पर हमले की साजिश रच रहा है आईएसआईएस

ताजमहल पर हमले की साजिश रच रहा है आईएसआईएस

ताजमहल पर हमले की साजिश रच रहा है आईएसआईएस

नई दिल्ली| दुनिया भर में आतंक का पर्याय बने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) की नजर अब भारत पर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह संगठन दुनिया के साथ अजूबों में शामिल आगरा के ताजमहल पर हमले की साजिश रच रहा है।

जानकारी के मुताबिक आईएसआईएस की मीडिया सेल ने ग्राफिक्स के माध्यम से खुद ही इस बात की तस्दीक की है कि ताजमहल उनके निशाने पर है। इस्लामिक स्टेट की गतिविधियों पर हरकतों पर नजर रखने वाली इंटेलिजेंस एजेंसी के एक विशेष दस्ते के अनुसार 14 मार्च को अहवाल उम्मात मीडिया सेंटर से टेलिग्राम पर एक ग्राफिक्स भेजा गया है, जिसमें एक नकाबपोश हथियारबंद व्यक्ति ताजमहल की ओक मुंह करके खड़ा है।

इसी ग्राफिक्स के ठीक ऊपर लिखा गया है, न्यू टारगेट यानी अगला लक्ष्य। फिर अरबी भाषा में उसके नीचे लिखा है, आगरा इश्तीशादी यानी आगरा शहीद साधक, यानी ताजमहल के भीतर आत्मघाती हमला करने की साजिश रची जा रही है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गुरुवार (16 मार्च) को बेंगलुरु के रहने वाले एक संदिग्ध आईएसआईएस सदस्य को अपने हिरासत में लिया. इस शख्स को पिछले साल दिसंबर में हिमाचल प्रदेश के कुल्लू से गिरफ्तार किया गया था। एनआईए इस शख्स से पूछताछ कर पता लगाएगी कि वह हिमाचल में क्यों ठहरा था और उसकी मंशा क्या थी।

अधिकारियों ने यहां बताया कि 23 साल के आबिद खान को शिमला की एक अदालत में पेश किया गया, जहां एनआईए ने उसे 14 दिन अपनी हिरासत में रखने की अनुमति प्राप्त की और फिर उसे दिल्ली लाया गया। 26/11 के मुंबई हमलों के साजिशकर्ता और पाकिस्तानी-अमेरिकी नागरिक डेविड हेडली की गतिविधियों की जांच की रोशनी में यह मामला अहम हो जाता है। हेडली ने कहा था कि वह उन इस्राइली पर्यटकों को निशाना बनाना चाहता था जो कुल्लू और मनाली के बीच के एक गांव में अक्सर आते थे।

Share it
Top