Top
Home > Archived > डौकी के हिस्ट्रीशीटर बाबा मुंशीदास की गोली मारकर हत्या

डौकी के हिस्ट्रीशीटर बाबा मुंशीदास की गोली मारकर हत्या

मरीज बनकर आए थे बाइक सवार हमलावर
बवाल की आशंका के चलते क्षेत्र में पुलिस तैनात

आगरा| डौकी के हिस्टीशीटर बाबा मुंशीदास की उनमे आश्रम में घुसकर हत्या कर दी गई। बाइक सवार युवकों ने उन्हें गोली मारी। आरोपी मरीज बनकर बाबा के पास पहुंचे और घटना को अंजाम दिया। अस्पताल लाते समय रास्ते में उनकी मौत हो गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए गांव में भारी पुलिसफोर्स तैनात कर दिया गया है।

डौकी के गांव में 50 वर्षीय हिस्टरीशीटर बाबा मुंशीदास के आश्रम में अज्ञात बाइक सवार युवकों ने गोली मारकर हत्या कर दी। बताया जाता है कि बाइक सवार युवक मरीज बनकर बाबा के पास पहुंचे जहां उन्होंने बाबा के गोली मार दी और वहां से भाग निकले। जब इसकी जानकारी बाबा के अनुयायियों को हुई तो उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी।

पुलिस ने घायल बाबा को अस्पताल लाया जाता इससे पहले ही रास्ते में उनहोंने दम तोड़ दिया। बाबा के अनुयायियों की संख्या अधिक होने के कारण और उनके आपराधिक रिकॉर्ड को ध्यान में रखते हुए गांव में भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

हर मर्ज के इलाज का करता था दावा
बाबा मुंशीदास द्वारा हर मर्ज के इलाज का दावा किया जाता था। पुत्र या पुत्री होने से लेकर गंभीर बीमारियों के इलाज करने के कारण बाबा के अनुयायियों की संख्या भी काफी ज्यादा थी। बाबा का आश्रम गांव में काफी अंदर है और यह काफी एकड जमीन में बना हुआ है। बाबा के समर्थकों द्वारा एक बार पुलिसकर्मी के साथ भी मारपीट की गई थी।

डेढ़ माह पूर्व ही आया था जेल से
बाबा मुंशीदास पर यूं तो कई सारे आपराधिक मामले दर्ज हैं, लेकिन हाल ही में वह अपने एक साथी की हत्या के आरोप में जेल गए थे और करीब डेढ़ महीने पहले ही वह सजा काटकर यहां आए थे। बाबा पर शारीरिक शोषण, अवैध खनन, बिजली चोरी, मारपीट सहित करीब 30 मुकदमे दर्ज हैं। बाबा का आपराधिक इतिहास है लेकिन इसके बावजूद उसके अनुयायियों की संख्या भी बहुत अधिक है।

Share it
Top