Home > Archived > अधिकारी कागजों में तैयार कर रहे हैं कार्रवाई के फर्जी आंकड़े, बेशर्मी की हद तक जारी है माफिया से सांठगांठ

अधिकारी कागजों में तैयार कर रहे हैं कार्रवाई के फर्जी आंकड़े, बेशर्मी की हद तक जारी है माफिया से सांठगांठ

अधिकारी कागजों में तैयार कर रहे हैं कार्रवाई के फर्जी आंकड़े, बेशर्मी की हद तक जारी है माफिया से सांठगांठ

-छुटपुट कार्रवाई कर लूट रहे हैं वाह-वाही, धड़ल्ले से दौड़ रहे हैं डम्पर
-माफिया के खिलाफ ‘स्वदेश’ के अभियान को जनप्रतिनिधियों ने सराहा

ग्वालियर| ग्वालियर जिला प्रशासन और खनिज विभाग की खनन माफिया से सांठगांठ बेशर्मी की हदों तक जारी है। मुख्यमंत्री, खनन मंत्री और प्रभारी मंत्री के आदेश के बावजूद अधिकारी मैदान में उतरकर खनन माफिया पर कार्रवाई करने के स्थान पर कार्यालय में कुर्सी तोड़कर कागजी कार्रवाइयों के आंकड़े तैयार करने में जुटे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विगत सप्ताह प्रदेश भर के खासकर ग्वालियर-चम्बल संभाग के कलेक्टर और खनिज अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंस में आदेश दिए थे कि वह अवैध खनिज माफिया पर सख्ती से कार्रवाई करें। विगत दिवस ग्वालियर प्रवास पर आए प्रभारी मंत्री गौरीशंकर विसेन ने भी ग्वालियर कलेक्टर को खनन माफिया पर सख्ती से कार्रवाई के निर्देश दिए थे। इसके बावजूद अधिकारी खनन माफिया पर कार्रवाई करने के लिए कार्यालयों से बाहर निकलने को तैयार नहीं हैं। ‘स्वदेश’ द्वारा अवैध खनन के खिलाफ छेड़े गए अभियान में विगत दो सप्ताह से लगातार प्रमाण जिला प्रशासन एवं खनिज विभाग के समक्ष रखे हैं। कलेक्टर संजय गोयल को अवैध खनन की सटीक सूचनाएं भी उपलब्ध कराई गई हैं। इसके बावजूद अधिकारी खनन माफिया के विरुद्ध कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। मुख्यमंत्री, खनन मंत्री और प्रभारी मंत्री के आदेश को कलेक्टर और खनिज अधिकारी द्वारा हवा में उड़ाकर झूंठे आंकड़े शासन को भेजकर झूंठी वाहवाही लूटी जा रही है।

जारी है कार्रवाई के फर्जी आंकड़ों का खेल
गांव-देहात में मुरम अथवा अन्य खनिज की एक-दो ट्रॉली, डम्पर पकड़कर राजस्व और खनिज विभाग के अधिकारी खुद की तारीफों के पुल बांध रहे हैं। विगत दो सप्ताह पूर्व मुख्यमंत्री के आगमन से एक दिन पहले महाराजपुरा क्षेत्र में 18 डम्परों और घाटीगांव में पकड़े गए तीन डम्परों पर कार्रवाई को उपलब्धियों में जोड़कर झूंठी वाहवाही लूटने का प्रयास किया जा रहा है, जबकि काले पत्थर के प्रमुख अवैध खनन क्षेत्रों मऊ-जमाहर, छौंड़ा-नयागांव, शंकरपुर, बेरजा आदि स्थानों पर खुलेआम धमाके कर अवैध खनन जारी है। यहां अवैध खदानों में दर्जनों पोकलेन और थ्रीडी मशीनें अवैध खनन में जुटी हैं। खदानों में सैकड़ों मजदूर परिवार सहित मजदूरी कर रहे हैं। खदानों और सड़कों से सटे क्रेशर धड़ल्ले से चल रहे हैं। इन क्रेशरों से प्रतिदिन एक हजार से अधिक डम्पर मुख्य मार्गों से होते हुए अधिकारियों के सामने से निकल रहे हैं। मजाल है कि अधिकारी इनके खिलाफ कार्रवाई करें।

जरूरी नहीं कि हर बार पकड़ा जाए चोर: जिलाधीश
जिला प्रशासन की खनिज माफिया के खिलाफ कार्रवाई की मंशा का अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि अवैध खनन के विरुद्ध कार्रवाई नहीं किए जाने के संबंध में गुरुवार की शाम जब कलेक्टर संजय गोयल से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने रटा-रटाया जवाब दिया। श्री गोयल का कहना था कि अवैध खनन पर कार्रवाई को लेकर खनिज अधिकारी को निर्देश दिए गए हैं। थोड़ी देर पहले ही खनिज अधिकारी से उनकी बात हुई थी। उन्होंने बताया कि वह दीनदयाल नगर क्षेत्र में कार्रवाई के लिए गए थे, लेकिन उन्हें वहां अवैध खनन और परिवहन होता नहीं मिला। कलेक्टर श्री गोयल ने अपने उत्तर में कहा कि चोर चोरी करता है, पुलिस कार्रवाई करती है, लेकिन जरूरी नहीं कि वह हर बार पकड़ा जाए।



इनका कहना है
‘‘हाल ही में जब मैं भिण्ड आया था, तब ग्वालियर कलेक्टर को खनिज माफिया पर सख्ती से कार्रवाई के निर्देश दिए थे। कलेक्टर ने अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की जानकारी भी दी है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर अवैध खनन के विरुद्ध सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश में कोई भी अवैध धंधा नहीं चलने दिया जाएगा। ‘स्वदेश’ द्वारा उजागर प्रमाणों को मेरे कार्यालय में भेजिए। प्रशासन ने कार्रवाई में ढिलाई बरती है तो अधिकारियों के विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी।’’

गौरीशंकर बिसेन
प्रभारी मंत्री ग्वालियर

Share it
Top