Home > Archived > तारे जमीं मूवी की तर्ज पर एमपी बोर्ड ने उठाया यह कदम

तारे जमीं मूवी की तर्ज पर एमपी बोर्ड ने उठाया यह कदम

तारे जमीं मूवी की तर्ज पर एमपी बोर्ड ने उठाया यह कदम

भोपाल। एमपी बोर्ड ने बॉलीवुड मूवी तारे जमीं की तर्ज पर बच्चों में किताबें पढऩे की रुचि बढ़ाने की पहल की है। इसके तहत अब एमपी बोर्ड की सभी कक्षाओं की किताबों का कवर पेज बच्चों की बनाई हुई पेंटिंग से सजा होगा।

बताया जा रहा है कि किताबों में बच्चों की रुचि बढ़ाने के लिए एमपी बोर्ड ने यह कदम उठया है। इसके तहत कक्षा पहली से 12वीं तक की करीब 1 करोड़ किताबों पर बच्चों द्वारा बनाई गई पेंटिंग्स को प्रकाशित किया जाएगा।

एमपी बोर्ड के इस प्रयास के तहत नए सत्र 2018-19 से सभी विषयों का मुख्य पृष्ठ बदल जाएगा। यह बच्चों की पसंद पर आधारित होगा। इसके लिए राज्य शिक्षा केंद्र और पाठ्य पुस्तक स्थायी समिति की ओर से प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों से बच्चों से पेंटिंग बनवाई जा रही है। प्रदेशभ्र के इन सरकारी स्कूलों से अब तक 800 पेंटिंग एकत्रित की गई हैं, जिनमें सभी विषयों से संबंधित पेंटिंग को शामिल किया गया है।


ये समिति चुनेगी बेस्ट पेंटिंग

सभी विषयों के पेंटिंग को सिलेक्ट करने की जिम्मेदारी एक समिति को सौंपी गई है। ये समिति राज्य शिक्षा केंद्र ने बनाई है। इस समिति में जवाहर बाल भवन के आधुनिक चित्रकला विभाग के अनुदेशक राज सैनी, शासकीय कमला नेहरू विद्यालय की चित्रकला विभाग की एचओडी अर्चना मुखर्जी व शिवेन्द्र पंड्या को शामिल किया गया है। चार सदस्यों की यह समिति बच्चों की मानसिकता, विषय वस्तु, उम्र, पेंटिंग की बारीकियां व कल्पनाशीलता के आधार पर उन पेंटिंग को चुनेंगी जो किताबों का कवर पेज बनेंगी।


कुल 42 पेंटिंग्स का चयन

आपको बता दें कि एमपी बोर्ड ने बहुत पहले ही इस योजना की तैयारियां शुरू कर दी थीं। इसके तहत प्रदेश के सरकारी स्कूलों में जुलाई से अक्टूबर तक सभी विषयों से संबंधित चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित की गई थी, इसमें 800 पेंटिंग सिलेक्ट की गईं। अब इनमें से केवल 42 पेंटिंग चुनी जाएंगी। जिन्हें बोर्ड की करीब 1 करोड़ किताबों के कवर पेज बनाया जाएगा।


स्कूल और स्टूडेंट का होगा नाम प्रिंट

बोर्ड की इन किताबों में पर बच्चों की बनीं पेंटिंग के साथ बच्चे का नाम और उसके स्कूल का नाम भी कवर पेज पर प्रिंट होगा।

सिलेक्टेड बच्चों को दी जाएगी ट्रेनिंग

जिन बच्चों की पेंटिंग कवर पेज के लिए सिलेक्ट की जाएंगी, उन बच्चों को गर्मियों की छुट्टी में नि:शुल्क ट्रेनिंग दी जाएगी।

इस संदर्भ में बोर्ड के जिम्मेदारों का कहना है कि एमपी बोर्ड की कक्षा एक से लेकर कक्षा 12वीं तक की सभी विषयों की किताबों के कवर बदल जाएंगे। इससे बच्चों की कल्पनाशीलता बढ़ाने में मदद मिलेगी। उनका कहना है कि पहली बार ऐसा हो रहा है, जब किताबों का मुख्यपृष्ठ बदला जा रह है। इससे पहले कभी ऐसा नहीं किया गया। शिक्षा के अगले सत्र यानी 2018-2019 में ये किताबें बच्चों के हाथों में होंगी।

Share it
Top