Latest News
Home > Archived > तीन वर्षों के लिए वार्षिकोत्सव पर रोक

तीन वर्षों के लिए वार्षिकोत्सव पर रोक

तीन वर्षों के लिए वार्षिकोत्सव पर रोक

गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय के छात्रों के बीच तनाव , छात्रावास के बाहर पुलिस तैनात ।

ग्वालियर । गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय में विगत दिवस खेल प्रतियोगिता के दौरान जूनियर व सीनियर छात्रों के बीच हुए उपद्रव के मामले में गुरूवार को कॉलेज काउंसिल की आपात बैठक बुलाई गई। काउंसिल में वार्षिकोत्सव पर तीन वर्षों के लिए प्रतिबंध लगाते हुए उपद्रवी छात्रों का मामला अनुशासन समिति को सौंप दिया गया है। समिति की रिपोर्ट के आधार पर उपद्रवी छात्रों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

वहीं महाविद्यालय में जूनियर व सीनियर चिकित्सा छात्रों के बीच तनाव की स्थिति को देखते हुए छात्रावास के बाहर पुलिस बल तैनात किया गया है। उल्लेखनीय है कि विगत दिवस बुधवार को महाविद्यालय के खेल मैदान में सिक्स ए साइट क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया था। मैच के दौरान जूनियर चिकित्सा छात्र कुछ बाहरी लड़को के साथ मैदान में पहुंचे और तोड़फोड़ करते हुए पेट्रोल बम से टेन्ट में आग लगा दी थी। इस पूरे घटनाक्रम में रविशंकर छात्रावास का छात्र आशीष द्विवेदी का नाम सामने आया है, इसके साथ ही महाविद्यालय के सीनियर छात्रों ने इस पूरे मामले की शिकायत कम्पू थाने में भी की थी। इसी के चलते गुरूवार को महाविद्यालय अधिष्ठाता डॉ. एस.एन. अयंगर की अध्यक्षता में कॉलेज काउंसिल की बैठक बुलाई गई। जिसमें महाविद्यालय के सभी विभागाध्यक्ष शामिल हुए। बैठक में जूनियर व सीनियर दोनों छात्रों ने अपना -अपना पक्ष रखा, इस पर पूरे मामले की जांच का जिम्मा महाविद्यालय अनुशासन समिति को सौंपने के साथ ही तीन वर्षों के लिए महाविद्यालय के वार्षिकोत्सव पर प्रतिबंध भी लगा दिया गया। समिति की रिपोर्ट के आधार पर उपद्रवी छात्रों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही छात्रों के बीच फिर से कोई विवाद न हो इसके लिए महाविद्यालय प्रबंधन ने सीनियर बॉयज छात्रावास के बाहर ब्रज और पुलिस बल तैनात किया है, क्योंकि इस पूरे घटनाक्रम के बाद से ही सीनियर और जूनियर छात्रों के बीच तनाव बना हुआ है।

डॉ. वैभव ने लगाई फटकार कहा- मुझे सीनियर मत समझना ।

इस पूरे घटनाक्रम को लेकर जब कॉलेज काउंसिल के सदस्यों ने दोनों पक्षों को अपना-अपना पक्ष रखने के लिए अंदर बुलाने के लिए डॉ. वैभव मिश्रा से कहा तो वह बाहर जूनियर छात्रों के बीच पहुंचे और कहा कि कोई दो छात्र अपनी बात रखने के लिए अंदर आ सकते हैं। इस पर जूनियर छात्रों ने कहा कि हम सभी अंदर जाएंगे। जिस पर डॉ. मिश्रा ने छात्रों को फटकारते हुए कहा कि मुझे सीनियर छात्र मत समझना, अंदर सिर्फ दो ही छात्र जाएंगे। इसके बाद दो छात्र और दो छात्राएं अपना पक्ष रखने के लिए अंदर पहुंचे।

छात्राओं ने कहा- हम पर कमेंट कस रहे थे ।

जूनियर छात्राओं ने काउंसिल के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि प्रतियोगिता के दौरान कुछ सीनियर छात्र उन पर छात्रावास की छत से कमेंट कस रहे थे, जिसको लेकर विवाद हुआ है। वहीं जूनियर छात्र आशीष का कहना था कि सीनियर छात्रों द्वारा उसके साथ मारपीट की थी, जिसकी शिकायत उसने महाविद्यालय के प्राध्यापकों से भी की थी।
सौंपी सीडी, कहा- छात्रों पर हो सख्त कार्रवाई
वहीं सीनियर छात्रों ने सबूत के तौर पर कॉलेज काउंसिल की बैठक में उपद्रव करने वाले छात्रों की रिकॉर्डिंग की एक सीडी सौंपी है, साथ ही आवेदन देते हुए छात्रों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग भी की है।

रिपोर्ट आने के बाद होगी सख्त कार्रवाई ।

इस पूरे घटनाक्रम को लेकर महाविद्यालय अधिष्ठाता डॉ. अयंगर का कहना है, यह बहुत ही गंभीर मामला है, जिस तरह छात्रों द्वारा उपद्रव मचाया गया है। उसमें किसी मरीज और छात्र को हानि पहुंच सकती थी, इसलिए अनुशासन समिति को जांच के लिए पूरा मामला सौंपा गया है। समिति की रिपोर्ट आने के बाद दोषी छात्रों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Share it
Top