Home > Archived > केरल में ओखी प्रभावित परिवारों से मिले मोदी, कहा- हर संभव करेंगे मदद

केरल में ओखी प्रभावित परिवारों से मिले मोदी, कहा- हर संभव करेंगे मदद

केरल में ओखी प्रभावित परिवारों से मिले मोदी, कहा- हर संभव करेंगे मदद


तिरुवनंतपुरम । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चक्रवाती तूफान ओखी से प्रभावित लोगों से मिलने के लिए मंगलवार को केरल के पुंथुरा पहुंचे। उन्होंने पीड़ित परिवारों के साथ मुलाकात के दौरान आश्वासन दिया कि केंद्र सरकार लापता लोगों की तलाश और उनकी घर वापसी के लिए हर संभव प्रयास करेगी। प्रधानमंत्री ने तिरुवनंतपुरम में राहत अभियान की समीक्षा बैठक में हिस्सा लिया। इस दौरान राज्य के मुख्यमंत्री पी विजयन भी मौजूद थे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'भारत सरकार हर तरीके से आपके साथ है। हमारा बचाव अभियान कभी बंद नहीं होगा। हम हर तरीके से आपकी मदद करेंगे और मैं यही आश्वासन देने के लिए यहां आया हूं। हम प्रार्थना करते हैं कि इस तूफान में लापता सभी क्रिसमस से पहले लौट आएंगे।' इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने पीड़ित परिवारों के साथ मुलाकात कर उनकी परेशानियों को जाना।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओखी प्रभावित इलाकों का दौरा करने के लिए सोमवार देर रात कर्नाटक के मेंगलुरु पहुंचे। यहां से मंगलवार सुबह वह लक्षद्वीप के लिए रवाना हुए। लक्षद्वीप में प्रधानमंत्री प्रभावित इलाकों की वर्तमान स्थिति पर एक समीक्षा बैठक में शामिल हुए। इसके बाद वह तमिलनाडु होकर केरल पहुंचे।

उल्लेखनीय है कि दक्षिण भारत में 'ओखी' चक्रवाती तूफान ने जमकर तबाही मचाई थी। तूफान की वजह से बहुत बर्बादी हुई थी और 71 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। केरल में इस तूफान की वजह से लापता हुए 100 से ज्यादा मछुआरों का अब तक पता नहीं चल सका है।

इसके बाद केरल सरकार ने फैसला लिया था कि वह अपने तलाशी अभियान का विस्तार गोवा के तट तक करेगी। इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी पीएम मोदी को पत्र लिखा था। इस पत्र के जरिए उन्होंने ओखी से हुई भारी तबाही के बाद लोगों की मदद के लिए पीएम मोदी से अनुरोध किया था।

हालांकि केंद्र सरकार के पर्यटन राज्य मंत्री के.जे. अल्फोंस ने केरल सरकार की ओखी को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग ठुकराते हुए कहा था कि ओखी को राष्ट्रीय आपदा के रूप में घोषित करने का कोई प्रावधान नहीं है। केंद्र सरकार राज्य को इस आपदा से निपटने के लिए सहायता निधि प्रदान करेगी और अगर जरूरत पड़ी तो अधिक राशि आवंटित की जाएगी।


Share it
Top